June 21, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

COVID-19,कमी के बाद भी लखनऊ नंबर वन

लखनऊ, राजधानी में कोरोना संक्रमण के मामले कम हुए हैं, लेकिन अभी भी लखनऊ प्रदेश में नंबर वन बना हुआ है। इसका मतलब साफ है कि स्वास्थ्य विभाग के सामने कोरोना संक्रमण को काबू लाने के लिए अभी भी चुनौतियां कम नहीं हैं। पिछले पांच दिनों के आंकड़ों पर गौर करें तो गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर(नोएडा) और कानपुर में भी कोरोना के मामले काफी कम हुए हैं। गुरुवार को 403 नए मरीजों के साथ राजधानी फिर पहले पायदान पर रही।

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए हाथ धोने या सैनेटाइजर का उपयोग करने के महत्व को रेखांकित करता है। अनुसंधानकर्ताओं नेबताया, “एसएआरएस-सीओवी-2 के मानव त्वचा पर नौ घंटे तक जीवित रहने से आईएवी की तुलना में संपर्क संक्रमण का जोखिम बढ़ सकता है.’ उन्होंने कहा, ‘एसएआरएस-सीओवी-2 संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए हाथ की उचित स्वच्छता जरूरी है।”

Total samples tested till date 11549475.
Total samples tested over last 24 hours 173336.
Total Positive till date 430666.
Total Negative till date 11118809.

EVENING-3-PM-REPORT-_OCTOBER-09

लखनऊ 409, गाजियाबाद 186, गौतम बुध नगर178, प्रयागराज 158, गोरखपुर128 मेरठ153 व कानपुर 114 मरीजों के रहे। जबकि गोरखपुर तीसरे, गौतम बुध नगर चौथे व कानपुर पांचवें स्थान पर रहा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर संजय भटनागर कहते हैं कि दो हफ्ते से लखनऊ में संक्रमण के मामले कम हुए हैं। यह सभी के लिए राहत की बात है, लेकिन इसका मतलब अभी लोगों को लापरवाह नहीं होना है। बल्कि पहले जैसे ही सतर्कता बरतनी है। क्योंकि कोरोना का दूसरा चक्र अभी-अभी दस्तक दे सकता है।

आज प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 48 और मरीजों की मौत हो गई जबकि 3249 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित 48और लोगों की मौत हो गई।