जानें अक्टूबर में कहाँ घूमने जायें

अक्टूबर का महीना घूमने के लिए बहुत अच्छा महीना साबित होता है क्योंकि इस समय ना ज्यादा गर्मी रहती है और ना ही सर्दी आयी होती है। ऐसे में मौसम खुशनुमा रहता है जिसमें आप घूमने-फिरने का भरपूर मजा उठा सकते हैं।

जोधपुर – अगर आप इतिहास और राजसी जीवनशैली के बारे में जानने को उत्सुक रहते हैं तो आपको जोधपुर की सैर का प्लान बनाना चाहिए। जोधपुर राजस्थान का ऐसा प्राचीन स्थल है जो राजपूताना जीवनशैली, भव्य प्राचीन किले और महलों की गाथा सुनाता है।ये स्थान ना केवल देश बल्कि दुनिया में भी मशहूर है और यहाँ बहुत से विदेशी पर्यटक हर साल आते हैं। यहाँ आकर आप डेजर्ट सफारी का मजा ले सकते हैं और मेहरानगढ़ किला, उम्मेद भवन महल और मंडोर गार्डन जैसे ऐतिहासिक स्थलों की सैर का आनंद भी उठा सकते हैं।

मैसूर – कर्नाटक में स्थित मैसूर अपनी समृद्ध संस्कृति के कारण विशेष पहचान रखता है। यहां आकर आप इतिहास के पन्नों को पलट सकते हैं यानी आप किले-महल और मकबरे देख सकते हैं।मैसूर पैलेस, श्रीरंगपट्टनम, महाराजा महल जैसे बहुत से ऐतिहासिक दर्शनीय स्थल मैसूर में आपका इंतजार कर रहे हैं।कर्नाटक का ऐतिहासिक और प्रसिद्ध शहर मैसूर भारतीय संस्कृति के विभिन्न आयामों और समृद्ध विरासत को अपने में समेटे हुए है। मैसूर न सिर्फ कर्नाटक में पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है बल्कि आसपास के अन्य पर्यटक स्थलों के लिए एक कड़ी के रूप में भी काफी महत्वपूर्ण है। शहर में सबसे ज्यादा पर्यटक मैसूर के दशहरा उत्सव के दौरान आते हैं। इस दौरान मैसूर महल एवं आसपास के स्थलों जगनमोहन पैलेस, जयलक्ष्मी विलास एवं ललिता महल पर काफी चहल पहल होती है। कर्ण झील चिड़ियाखाना इत्यादि भी यहां काफी आकर्षण का केन्द्र है। मैसूर के संग्रहालय भी पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। मैसूर से थोड़ी दूर कृष्णराज सागर डैम एवं उससे लगा वृंदावन गार्डन अत्यंत मोहक स्थलों में से है। इस गार्डन की साज-सज्जा, इसके संगीतमय फव्वारे इत्यादि पर्यटकों के लिए काफी लुभावने स्थलों में से हैं। ऐतिहासिकता की दृष्टि से यहीं श्रीरंग पट्टनम का ऐतिहासिक स्थल है जो मध्य तमिल सभ्यताओं के केन्द्र बिन्दु के रूप में स्थापित था। मैसूर में केन्द्रीय विद्यालय संगठन का शिक्षा एवं प्रशिक्षण आँचलिक संस्थान है।

बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान – अक्टूबर के महीने में जंगल सफारी का मजा लेना भी एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है और अगर आप प्रकृति प्रेमी हैं तो आपको मध्यप्रदेश के बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान आना चाहिए।ये क्षेत्र बंगाल टाइगर के लिए बहुत मशहूर है और यहाँ देश-विदेश से पर्यटक आया करते हैं। यहाँ आपको पेड़-पौधों और जीव-जंतुओं की बहुत-सी प्रजातियां देखने को मिलेंगी, जैसी आपने कभी देखी नहीं होगी।

वर्कला – केरल की असीम खूबसूरती के बीच, खजूर के पेड़ों से घिरा बेहद खूबसूरत पर्यटन स्थल है वर्कला। ये केरल की ऐसी एकमात्र जगह है जहाँ पहाड़ियां समुद्र के नजदीक हैं।यहाँ आप समुद्र और पहाड़ी के अद्भुत नज़ारों का आनंद लेने के साथ शिवगिरि मठ, कप्पिल झील, अन्जेंगो फोर्ट और पोन्नुमथुरुथु द्वीप जैसे बहुत से टूरिस्ट स्पॉट्स पर वर्कला की सुंदरता के अनूठे नमूनों को करीब से देख सकते हैं।यह जगह हिंदू और मुस्लिम दोनो धर्मो के लिए महत्‍वपूर्ण धार्मिक स्‍थल है। यहां के मुख्‍य स्‍थल शिवगिरी मठ, जर्नादन स्‍वामी मंदिर, कुडुवायिल जुमा मस्जिद, वर्कला बीच,पापनासम बीच, कपिल झील, अंचिलो किला, शिव पार्वती मंदिर और पावर हाउस आदि हैं। वर्कला में कई पानी के झरने भी हैं जो इस जगह को पर्यटन की दृष्टि से अच्‍छा बनाते हैं। इस जगह के महत्‍वपूर्ण समुद्र तटों में से एक पापनासम बीच है, इस समुद्र तट के पास में ही एक प्रसिद्ध मंदिर, जनार्दन स्‍वामी मंदिर भी है जो 2000 साल से भी अधिक पुराना है। जनार्दन स्‍वामी मंदिर, इस जगह का एक और हॉटस्‍पॉट है।

ऋषिकेश – उत्तराखंड का ऋषिकेश नगर धार्मिक स्थल के रुप में अपनी विशेष पहचान रखता है। यहाँ आप लक्ष्मण झूला, त्रिवेणी घाट, वशिष्ट गुफा, नीलकंठ महादेव मंदिर, स्वर्ग आश्रम जैसे धार्मिक स्थलों पर जा सकते हैं। इतना ही नहीं, इस नगरी में आप राफ्टिंग और बंजी जम्पिंग का रोमांच भी ले सकते हैं।ऋषिकेश वर्षों से दुनिया के शीर्ष आध्यात्मिक स्थानों के रूप में एक बेहद लोकप्रिय स्थान है, ऋषिकेश में कई दर्शनीय स्थल ऐसे है जो आपका मन मोह लेंगे। खासकर 60 के दशक के अंत में महर्षि महेश योगी की बीटल्स एसोसिएशन के बाद से यह और भी लोकप्रिय हो गया है और हर साल देश विदेश से आये पर्यटकों का यहां जमावड़ा लगा रहता है। इसे तीर्थयात्रा वाले शहर के रूप में जाना जाता है और इसे हिंदुओं के सबसे पवित्र स्थानों में से एक माना जाता है। चूंकि यह गंगा नदी के पवित्र तट पर स्थित है, यह जगह साधुओं (संतों) का केंद्र रही है और आध्यात्मिकता, योग, ध्यान और आयुर्वेद की शिक्षा के लिए यहां कई आश्रम बनाये गए हैं। ऋषिकेश घूमने लायक जगह की कोई कमी नही है यह पर आप को हर प्रकार की चीज़े देखने को मिलेगी।ऋषिकेश में पर्यटकों में हुई तेजी से बढ़ोतरी के साथ ही यहां नए-नए कैफे और रेस्टोरेंट खुल गए हैं और कई सारे कैफे अंग्रेजी और अमेरिकी भोजन और पेय पदार्थों को सर्व करने लगें हैं। हालांकि, पिछले कुछ सालों में ऋषिकेश को एक एडवेंचर स्पोर्ट्स के केंद्र के रूप में भी विकसित किया गया है क्योंकि यहां पर व्हाइट वाटर राफ्टिंग, बंजी जंपिंग, फ्लाइंग फॉक्स, माउंटेन बाइकिंग इत्यादि सहित कई स्पोर्ट्स के विकल्प मौजूद हैं। यह पर्यटकों के लिए हिमालय में ट्रेकिंग करने का रास्ता खोलता है और इसे गढ़वाल हिमालय के गेटवे के रूप में जाना जाता है। ऋषिकेश को एक लोकप्रिय कैम्पिंग साइट के रूप में भी माना जाता है। अगर आप वास्तव में एक नया अनुभव करना चाहते हैं तो आपको एक बार ऋषिकेश जरुर जाना चाहिए। वाकई ऋषिकेश घूमने लायक जगह है।

अब आप जान गए हैं कि अक्टूबर के महीने में भारत के कौन-कौन से स्थानों की सैर आपके लिए अच्छा अनुभव साबित हो सकती हैं इसलिए अब बारी आपकी है। अपनी मनपसंद जगह का चुनाव करिये और वहां के प्राकृतिक सौंदर्य, रोमांच और सुकून का अनुभव करने के लिए बैग पैक कर लीजिये।