June 21, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

मूल्य समर्थन योजना के तहत 01 अप्रैल से गेहूं क्रय होगा प्रारम्भ


मुख्यमंत्री ने जनसमस्याओं के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिये राजस्व विभाग तथा पुलिस विभाग द्वारा जनसमस्याओं का गुणवत्तापरक निस्तारण किया जाए। गर्मी के मौसम में आग लगने की दुर्घटनाओं की सम्भावना के दृष्टिगत, राहत आयुक्त कार्यालय तथाजनपद स्तर पर राजस्व प्रशासन को सक्रिय रहने के निर्देश। आगामी पर्वों, त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए खाद्यसुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग पूरी सक्रियता से बाजारों में बिक रही खाद्य सामग्री की गुणवत्ता की जांच करे। 01 अप्रैल, 2021 से मूल्य समर्थन योजना के तहत प्रारम्भ किए जा रहे, गेहूं खरीद कार्य की सभी व्यवस्थाएं समय से पूरी करने के निर्देश। मण्डियों की कार्य प्रणाली को मौके पर परखने के लिए टीम गठित करते हुए सभी मण्डियों का आकस्मिक निरीक्षण किया जाए।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसमस्याओं के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि प्रत्येक जनपद में जिलाधिकारी द्वारा जनता की समस्याओं और शिकायतों के निस्तारण की नियमित समीक्षा की जाए। उन्होंने सम्पूर्ण समाधान दिवस (तहसील दिवस) तथा थाना दिवस को और प्रभावी बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि राजस्व विभाग तथा पुलिस विभाग द्वारा जनसमस्याओं का गुणवत्तापरक निस्तारण किया जाए।

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में विभिन्न विभागों के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम में आग लगने की दुर्घटनाओं की सम्भावना बनी रहती है। उन्होंने इसके दृष्टिगत राहत आयुक्त कार्यालय तथा जनपद स्तर पर राजस्व प्रशासन को सक्रिय रहने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि आगामी पर्वों, त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग पूरी सक्रियता से बाजारों में बिक रही खाद्य सामग्री की गुणवत्ता की जांच करे। उन्होंने बाजारों में बेचे जा रहे सरसों के तेल की भी गुणवत्ता की जांच किए जाने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री जी ने 01 अप्रैल, 2021 से मूल्य समर्थन योजना के तहत प्रारम्भ किए जा रहे गेहूं खरीद कार्य की सभी व्यवस्थाएं समय से पूरी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मण्डियों की कार्य प्रणाली को मौके पर परखने के लिए टीम गठित करते हुए सभी मण्डियों का आकस्मिक निरीक्षण किया जाए।

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव श्रम सुरेश चन्द्रा, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।