अयोध्या आने वाले दर्शनार्थियों को नगर के अंदर इलेक्ट्रिक कार्ट्स के माध्यम से यातायात की सुविधा

लखनऊ,मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर अयोध्या धाम के विकास के लिए कराए जाने वाले कार्यों के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण का अवलोकन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि अयोध्या नगरी का विकास इस प्रकार से किया जाए कि यहां आने वालों को कोई दिक्कत न हो। यातायात की व्यवस्था सुगम हो, इसके लिए सड़कों का चैड़ीकरण कराया जाए। उन्होंने कहा कि अयोध्या नगरी के विकास के सभी कार्य योजना बनाकर चरणबद्ध तरीके से किए जाएं।  मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न दिशाओं से अयोध्या पहुंचने वाले दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए सड़कों का प्रभावी और निर्बाध नेटवर्क तैयार किया जाए। सड़कों के दोनों ओर सभी जनसुविधाओं जैसे-पेयजल, शौचालय इत्यादि की अच्छी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। साथ ही, अपने वाहनों से आने वाले दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए विभिन्न स्थलों पर मल्टी लेवेल पार्किंग का निर्माण किया जाए, ताकि लोग सड़क पर वाहन न खड़ा करें। उन्होंने कहा कि बसों इत्यादि की पार्किंग के लिए बड़े बस स्टैण्ड बनाए जाएं।  मुख्यमंत्री  ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अयोध्या में अण्डरग्राउण्ड केबलिंग की व्यवस्था की जाए, ताकि इधर-उधर तार न लटकें। उन्होंने अच्छी मार्ग प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने अयोध्या आने वाले दर्शनार्थियों को नगर के अंदर इलेक्ट्रिक कार्ट्स के माध्यम से यातायात की सुविधा उपलब्ध कराए जाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए गम्भीरता से प्रयास किए जाएं।  मुख्य कार्यपालक अधिकारी, यूपीडा तथा अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने मुख्यमंत्री  के समक्ष प्रस्तुतीकरण किया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव लोक निर्माण  नितिन रमेश गोकर्ण, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।