अयोध्या प्रवासी श्रमिकों व स्थानीय श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने में अग्रसर

अयोध्या, गरीब कल्याण रोजगार अभियान के संचालन में  उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग ,जनपद अयोध्या ,अन्य प्रदेशों से आए हुए प्रवासी श्रमिकों व स्थानीय श्रमिकों को निरंतर रोजगार प्रदान करने की ओर अग्रसर होने के साथ अपनी महती भूमिका निभा रहा है। उक्त जानकारी देते हुए जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि भारत सरकार द्वारा संचालित गरीब कल्याण रोजगार अभियान के अंतर्गत जनपद अयोध्या में उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा मुख्यमंत्री फलोद्यान योजनान्तर्गत 45 हेक्टेयर क्षेत्रफल में  84 लघु एवं सीमांत कृषकों के चयन करते हुए उनके  खेतों में फलदार पौधों यथा आम, अमरूद, आंवला, नींबू ,आंवला,जामुन सहित अन्य फलदार पौधों का निशुल्क रोपण मनरेगा के तहत कराया जा रहा। है। इसमें लाभार्थी के खेत की मेड़बंदी, पौधारोपण हेतु गड्ढा खोदने के कार्य ,खेत के स्वामीध्लाभार्थी अथवा उनके परिवारजनों जो मनरेगा के जॉब कार्ड धारकों हो को उक्त कार्य मे रोजगार भी दिया जा रहा है।

जिससे लघु एवं सीमांत किसानों के जीवन यापन  की सुविधा के साथ-साथ रोजगार के अवसर भी प्राप्त हो रहे हैं। जिलाधिकारी ने आगे बताया कि उक्त योजना के क्रियान्वयन के तहत रोपित किए जाने वाले पौधों का भुगतान भी मनरेगा द्वारा  किया जा रहा है। जिससे इन्हें दोहरा लाभ प्राप्त हो रहा है। एक तो इन्हें रोजगार प्राप्त हो रहे है, दूसरे इनके खेतों में निशुल्क फलदार वृक्षों की निशुल्क रोपाई भी हो रही है। जनपद के सोहावल  विकासखंड में स्थित उद्यान विभाग की परित्यक्त भूमि पर लगभग 1 हेक्टेयर क्षेत्रफल में पौधशाला की स्थापना एवं ढांचागत सुविधाओं का विकास कराया जा रहा है तथा विकसित पौधशाला पर  विभिन्न प्रकार के 75 हजार फलदार पौधों का उत्पादन किया जा रहा है। जिससे लगभग 21000 मानव दिवसों का सृजन कर बाहर से आए हुए श्रमिकों तथा स्थानीय श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया जा रहा है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत मिल रहे रोजगार से स्थानीय श्रमिको के साथ-साथ प्रवासी श्रमिकों के परिवारों का भरण पोषण हो रहा है और उन्हें स्थानीय स्तर पर कोरोना संक्रमण काल  के दौरान भी रोजगार प्राप्त हो रहे है। जिससे वह अपने परिवार का जीवन यापन सुविधा पूर्वक कर पा रहे हैं। स्थानीय श्रमिक  एवं प्रवासी श्रमिक उत्तर प्रदेश सरकार व केंद्र सरकार कि इस योजना संचालन के प्रति आभार प्रकट किया है।