अशोक गहलोत भाजपा पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगा रहे हैं-वंदना नोगिया

विधायकों की बाड़ाबंदी कर सीएम अशोक गहलोत भाजपा पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगा रहे हैं-वंदना नोगिया।भाजपा का प्रदेश मंत्री बनने के बाद अजमेर के मेयर पद पर मजबूत दावेदारी। 

राजस्थान भाजपा की नवनियुक्त प्रदेश मंत्री वंदना नोगिया ने कहा है कि सौ विधायकों की गत 10 जुलाई से बड़ाबंदी करने वाले राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत अब भाजपा को लोकतंत्र का हत्यारा बता रहे हैं। नोगिया ने कहा कि लोकतंत्र की हत्या तो 10 जुलाई से स्वयं अशोक गहलोत कर रहे हैं। यदि गहलोत को अपने विधायकों पर भरोसा होता तो 20 दिन जयुपर में बंधक बनाए जाने के बाद अगले 15 दिनों के लिए जैसलमेर नहीं ले जाया जाता। गहलोत भाजपा पर तो आरोप लगा रहे हैं। लेकिन अपने गिरेबां में नहीं झांक रहे। गहलोत बताएं कि विधायकों को चार्टर प्लेन में जैसलमेर ले जाने का खर्चा किसने दिया तथा जयपुर व जैसलमेर की होटलों के किराये का भुगतान कौन कर रहा है? गहलोत अपनी अल्पमत की सरकार को बचाने के लिए सत्ता का खुलकर दुरुपयोग कर रहे हैं। नोगिया ने कहा कि झगड़ा कांग्रेस का अपना है, लेकिन गहलोत भाजपा को दोषी ठहरा रहे हैं। गहलोत को सचिन पायलट से पूछना चाहिए कि उनके विधायक कितने में बिके हैं। नोगिया ने कहा कि गहलोत बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं।

गहलोत के शब्द भी मुख्यमंत्री के स्तर के नहीं है। भाजपा को गहलोत की सरकार गिराने की कोई जरुरत नहीं है,यह सरकार अपने अंर्तविरोध से ही गिर जाएगी। आज कोरोना संक्रमण की वजह से प्रदेश की जनता त्रस्त है, लेकिन गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार जयपुर-जैसलमेर की होटलों में बंधक बनी हुई है। देश में यह पहला उदाहरण है जब कोई सरकार 35 दिनों तक होटलों में रहेगी। मेयर पद पर दावेदारी:वंदना नोगिया अजमेर की जिला प्रमुख रही हैं। दलित चेहरा होने की वजह से वंदना को एक अगस्त से ही भाजपा का प्रदेश मंत्री नियुक्त किया गया है। माना जा रहा है कि नोगिया की अब अजमेर के मेयर पद पर मजबूत दावेदारी होगी। मेयर का पद इस बार एससी महिला के लिए आरक्षित है। यानि नोगिया मेयर का चुनाव लडऩे के लिए पात्र हैं। पूर्व में अजमेर के भाजपा विधायक अनिता भदेल प्रदेश मंत्री रही हैं। बदली परिस्थितियों में नोगिया को प्रदेश मंत्री बनाया जाना राजनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है।

अजमेर की राजनीति में वंदना नोगिया को दलित चेहरे के तौर पर उभारने का प्रयास किया जा रहा है। सतीश पूनिया ने भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद दलित वर्ग के ही डॉ. प्रियशील हाड़ा को अजमेर शहर भाजपा का जिला अध्यक्ष बनाया था। वंदना को सीधे प्रदेश मंत्री बनाकर पूनिया ने एक बार फिर अजमेर के भाजपा नेताओं को चौंकाया है। उल्लेखनीय है कि हाल ही में जिला प्रमुख का कार्यकाल समाप्त होने के बाद नोगिया ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर सरकार के प्रशासक नियुक्त करने के फैसले को चुनौती दी है। वंदना का कहना है  कि जिसप्रकार मध्यप्रदेश में जिला प्रमुख और प्रधानों के कार्यकाल में एक वर्ष की वृद्धि की गई, उसी प्रकार राजस्थान में भी सरकार निर्णय ले। पंचायतराज संस्थाओं में प्रशासक नियुक्त कर सरकार ने जनप्रतिनिधियों के अधिकारों का हनन किया है। मालूम हो कि कोरोना संक्रमण की वजह से सरकार ने पंचायतीराज के चुनाव भी टाल रखे हैं। मोबाइल नम्बर 9887774620 पर नोगिया को भाजपा का प्रदेश मंत्री बनने पर बधाई दी जा सकती है।