आत्म निर्भर भारत का लक्ष्य दुनिया की मार्केट हासिल करना-नितिन गडकरी

रविवार 23 अगस्त 2020 को यूटूब चैनल पर एंटरप्रेन्योर इंडिया टीवी के माध्यम से सुबह 11:30 पर एक सीधा प्रसारण आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम का आयोजित किया गया। संस्था आईआईडी इनक्यूबेटर एमएसएमई गवर्नमेंट ऑफ इंडिया पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत ने मिशन आत्मनिर्भर भारत के तहत आत्मनिर्भर भारत गीत एवं उद्यमियों के लिए दैनिक लाइव कार्यक्रम का प्रमोचन मुख्य अतिथि सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय के कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी द्वारा किया गया। यह गीत आत्मनिर्भर भारत होगा हमारा आईआईडी चेयरमैन मुकेश शुक्ल जी द्वारा लिखा गया जोकि इस कार्यक्रम के संयोजक भी थे। नितिन गडकरी ने बताया आत्मनिर्भर भारत बनाना प्रधानमंत्री का सपना है, जिस पर हम सब लोग मिलकर काम कर रहे हैं, माननीय मंत्री जी ने टेक्नोलॉजी के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों की तस्वीर बदलने की बात की, उन्होंने कहा है कि अब ग्रामीण को शहरों में आने की आवश्यकता नहीं है, नितिन गडकरी ने कहा सामाजिक आर्थिक चिंतन ही हमारा मिशन है इस बात पर जोर डालते हुए।

उन्होंने कहा अभी तक देश में ऐसा कोई इंस्टिट्यूट नहीं जो उद्यमियों के लिए ही हो यह एक बहुत सराहनीय पहल है। गांव से ग्लोब तक परिचर्चा पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए माननीय श्री नितिन गडकरी जी ने कहा टेक्नोलॉजी के जरिए आधुनिकरण करके गरीब शोषित पीड़ित लोगों की तस्वीर को बदलना ही आत्मनिर्भर भारत का मिशन है, उन्होंने कहा टेक्नॉलॉजी को गांव ,गरीब, मजदूर, किसानों, तक पहुंचाना जल ,जमीन, जंगल और जानवर पर आधारित हमारी आर्थिक व्यवस्था को सफल बनाना और वहां पर कैपिटल इनकम जीडीपी ग्रोथ बढ़ाना ही हमारा लक्ष्य है ,ताकि गांव में कोई शहर की तरफ ना आए, उन्होंने बताया सरकार का इकोनामी में कंट्रीब्यूशन एमएसएमई का टोटल देश के ग्रोथ  में 30% है, देश का एक्सपोर्ट एमएसएमई से 48% है,मंत्री जी ने बताया देश में 11 करोड़ जॉब एमएसएमई ने सृजन की है। और वही विलेज इंडस्ट्री का टर्न ओवर 88 हजार करोड़ रहा। मंत्री जी ने कहा आत्म निर्भर भारत का लक्ष्य ये ही है की टेक्नॉलॉजी को अपग्रेड करके एक्सपोर्ट को बढ़ाएं और दुनिया की मार्केट को हासिल करें, और इंपोर्ट को कम करें नए रोजगार का निर्माण करके गरीबी दूर करें यही आत्मनिर्भर भारत का सपना है।

कार्यक्रम में सम्मानीय अतिथि में खादी विकास और ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना जी शामिल हुए साथ ही हिंदू आध्यात्मिक गुरु, संत, लेखक और दार्शनिक स्वामी अवधेशानंद गिरि, जूना अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर जी शामिल हुए । अतिथियों एवं दर्शकों ने इस कार्यक्रम की प्रस्तुतियों का आनंद उठाया  और कार्यक्रम की सराहना की, आईआईडी संस्था के अध्यक्ष सीए मुकेश शुक्ला ने कार्यक्रम के अंत में आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम में शामिल होने के लिए माननीय अतिथियों के साथ सभी दर्शकों का भी धन्यवाद किया ।