September 23, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

आवश्यक दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखें-मुख्य विकास अधिकारी

विशेष संचारी रोग नियंत्रण, दस्तक अभियान, फाइलेरिया आईडीए अभियान की बैठक सम्पन्न।सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर कन्सेनट्रेटर एवं ऑक्सीजन सिलेण्डर व आवश्यक दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखें।

प्रतापगढ़। मुख्य विकास अधिकारी प्रभास कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में विशेष संचारी रोग नियंत्रण, दस्तक अभियान, फाइलेरिया आई0डी0ए0 अभियान की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने विशेष संचारी रोग नियंत्रण, दस्तक अभियान के सम्बन्ध में शिक्षा विभाग, पशुपालन विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, कृषि विभाग एवं अन्य विभागों द्वारा माइक्रो प्लान के अनुसार अब तक कराये गये कार्यो की समीक्षा की। बैठक में पशुपालन विभाग के प्रतिनिधि द्वारा बताया गया कि 145 शुकर पालकों से सम्पर्क कर सैनेटाइजेशन की कार्यवाही करायी गयी है किन्तु यूनीसेफ के कर्मचारियों द्वारा मानीटरिंग में यह तथ्य गलत पाया गया जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की और सचेत करते हुये निर्देशित किया कि 7 दिन में सैनेटाइजेशन कराकर फोटोग्राफ सहित सूची उपलब्ध कराये। इसी तरह ग्रामीण क्षेत्रों में झाड़ियों की कटाई एवं जल जमाव को रोकने के कार्यो में प्रगति न होने पर मुख्य विकास अधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की और जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया कि जल्द से जल्द सभी कार्य कराये जाये, किसी भी स्तर पर शिथिलता एवं लापरवाही कदापि न बरती जाये। मुख्य विकास अधिकारी ने 12 जुलाई से 26 जुलाई तक चल रहे फाइलेरिया अभियान की समीक्षा की और निर्देशित किया कि सभी टीमे घर घर जाकर दवा का वितरण करायें।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने सभी सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर कन्सेनट्रेटर एवं ऑक्सीजन सिलेण्डर की पर्याप्त व्यवस्था एवं आवश्यक दवाओं की उपलब्धता बनाये रखने का निर्देश दिया और कहा कि इस कार्य में किसी भी स्तर पर शिथिलता एवं लापरवाही न बरती जाये। जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देशित किया गया कि जो भी अति कुपोषित बच्चे चिन्हित किये जा रहे है उनका ईलाज जिला अस्पताल के एन0आर0सी0 में कराया जाये। इसी तरह आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की समीक्षा करते हुये विशेष गोल्डेन कार्ड निर्माण की समीक्षा की गयी जिसमें नोडल अधिकारी डा0 सुधाकर सिंह ने बताया कि 223845 गोल्डेन कार्ड निर्गत किये गये है और 31 जुलाई तक गोल्डेन कार्ड बनाने का अभियान चलाया जा रहा है।

सीडीओ ने विकास खण्डवार आयुष्मान कार्ड निर्गत करने की समीक्षा की और नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि प्रत्येक ब्लाक में 02 टीमें आयुष्मान कार्ड बनाने हेतु कार्य कर रही है फिर भी 15 दिनों में प्रगति अत्यन्त खराब है। उन्होने सभी सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह स्वयं ब्लाकों में आयोजित होने वाले कैम्पों में प्रतिभाग करें तथा प्रतिदिन शाम को टीम के कार्यो की समीक्षा करें। मुख्य विकास अधिकारी ने जिला अस्पताल में पुनः आयुष्मान वार्ड संचालित करने के लिये मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा0 आर्य देश दीपक को निर्देशित किया। बैठक के अन्त में मुख्य विकास अधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सौपे गये दायित्वों का अक्षरशः निर्वहन करें और इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही कदापि न बरती जाये। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अरविन्द कुमार श्रीवास्तव, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सी0पी0 शर्मा, जिला मलेरिया अधिकारी डा0 राजेश कुमार गुप्ता, डब्लूएचओ के जोनल क्वाडिनेटर डा0 राहुल सहित समस्त सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी चिकित्साधिकारी उपस्थित रहे।