एल-1 एवं एल-2 अस्पतालों में आक्सीजन सिलेण्डर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराएं: मुख्य सचिव

कोरोना संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करना प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता।   सर्विलांस टीम के द्वारा प्रत्येक घर के प्रत्येक सदस्य का सर्वे किया जाये, लक्षण पाये जाने पर उसकी तत्काल जाॅंच करायी जाये। प्रत्येक सर्विलांस टीम को कम से कम एक-एक पल्स आक्सीमीटर व थर्मल स्कैनर मुहैया करायें सर्विलांस टीम का सुपरविजन वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भी किया जाए मरीजों के भर्ती होने के लिये कोविड अस्पतालों में पर्याप्त बेड उपलब्ध रहे, अस्पताल साफ-सुथरा हों तथा एल-1 एवं एल-2 अस्पतालों में आक्सीजन सिलेण्डर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहें मुख्य सचिव ने मिर्ज़ापुर एवं सोनभद्र के जिलाधिकारी व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर कोविड-19 के दौरान उपलब्ध करायी जा रहीं स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा की।

 
लखनऊ,  उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव ने कहा है कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करना प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने निर्देश दिये कि कंटेनमेन्ट जोन में सर्विलांस टीम के द्वारा प्रत्येक घर के प्रत्येक सदस्य का सर्वे किया जाये, लक्षण पाये जाने पर उसकी तत्काल जाॅंच करायी जाये। यह भी निर्देश दिये कि प्रत्येक सर्विलांस टीम को कम से कम एक-एक पल्स आक्सीमीटर व थर्मल स्कैनर मुहैया करायें तथा टेस्टिंग कार्य के लिये लिखित रूप में नोडल अधिकारी नामित करें।
मुख्य सचिव ने यह निर्देश आज मिर्ज़ापुर में अष्टभुजा निरीक्षण गृह के सभागार में कोविड-19 के दौरान उपलब्ध करायी जा रहीं स्वास्थ्य सुविधाओं के सम्बन्ध में जनपद मिर्ज़ापुर एवं सोनभद्र के जिलाधिकारी व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने में सर्विलांस टीम की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है, इसे प्रभावी बनायें तथा इसका सुपरविजन वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भी किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाये कि डोर-टू-डोर सर्वे के दौरान कोई भी व्यक्ति छूटने न पाये। प्रदेश में लगभग 55 से 60 हजार टेस्टिंग प्रतिदिन करायी जा रही है।
राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि प्रत्येक हेल्प डेस्क पर भी पल्स आॅक्सीमीटर व थर्मल स्कैनर मशीन उपलब्ध रहें। उन्होंने कहा कि यह प्रयास किया जाए कि कोविड के कारण किसी की मृत्य न होने पाये। मरीजों के भर्ती होने के लिये कोविड अस्पतालों में पर्याप्त बेड उपलब्ध रहें, अस्पताल साफ-सुथरा हो तथा एल-1 एवं एल-2 अस्पतालों में आॅक्सीजन सिलेण्डर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहे। कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिये लाउडस्पीकरों व अन्य माध्यमों से प्रचार-प्रसार कर लोगों को जागरूक कराया जाये। सभी लोग मास्क लगाये, सोशल डिस्टेसिंग बनाये रखे तथा कोविड-19 के नियमों का पालन करें। कन्टेमेन्ट जोन मंे नियमों का सख्ती के पालन सुनिश्चित कराया जाए।
मुख्य सचिव ने कहा कि कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करते हुये अपील की जाये कि किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाये जाने पर घबरायें नहीं, वह तत्काल अपनी जांच कराये, जिससे संक्रमित होने की दशा में आइसोलेशन में रखकर समय से इलाज किया जा सके। इससे संक्रमण को फैलने से रोकने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि शनिवार व रविवार को संचालित किये जा रहे विषेष स्वच्छता एवं सेनिटाइजेषन अभियान कार्यों को प्रभावी ढंग से किया जाए।
मुख्य सचिव ने कहा कि जिला प्रशासन, पुलिस व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी कोरोना संक्रमण के रोकथाम व बचाव के लिये कोरोना योद्धा की तरह कार्य कर रहे हैं। अतः वह स्वयं को सुरक्षित रखें, तभी कोरोना पर नियंत्रण पाया जा सकता है। उन्होंने जिलाधिकारियों से कहा कि निर्माणाधीन अस्पतालों यथा-मेडिकल कालेज, पी0एच0सी0/सी0एच0सी0 के निर्माण कार्य में तेजी लाकर प्राथमिकता पर पूर्ण करायें। उन्होंने जनपद की एम्बुलेंस व्यवस्था की भी समीक्षा करते हुये निर्देश दिये कि सभी एम्बुलेंस को सक्रिय रखा जाये।
समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर श्री सुषील कुमार पटेल ने बताया कि जनपद में डोर टू डोर सर्वे के लिये कुल 724 टीमें गठित की गयी हैं। इसी प्रकार जिलाधिकारी सोनभद्र श्री एस0 राजलिंगम ने बताया कि सोनभद्र में 694 सर्विलांस टीम गठित की गयी हैं। जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर व सोनभद्र के द्वारा अपने-अपने जिलोें में अब तक किये गये जाॅंच, निगेटिव व पाॅजिटिव, भर्ती पाॅजिटिव तथा मृत व्यक्तियों की संख्या आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी।
बैठक में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, प्रमुख स्टाफ आॅफिसर मुख्य सचिव श्री पंकज कुमार, आयुक्त, विन्ध्याचल मण्डल श्रीमती प्रीति शुक्ला, पुलिस महानिरीक्षक विन्ध्याचल परिक्षेत्र श्री पीयूष श्रीवास्तव के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।