एसडीएम सदर के खिलाफ पत्रकारों ने दिया जिलाधिकारी आजमगढ़ को ज्ञापन

371

एसडीएम सदर के तानाशाही के खिलाफ पत्रकारों ने दिया जिलाधिकारी आजमगढ़ को ज्ञापन.


आजमगढ़ – आज पूर्व निर्धारित कार्यक्रम में अनुसार जर्नलिस्ट क्लब आजमगढ़ के पत्रकार साथियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा जिसे डीएम के प्रतिनिधि के रूप में अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने लिया. यह ज्ञापन जनपद के वरिष्ठ पत्रकार एसके दत्ता के स्टेट बैंक रैदोपुर स्थित कार्यालय, जिसमें हिंदी दैनिक पायनियर का दफ्तर के बाबत है. जिसको कल अचानक से एसडीएम सदर ने पहुँच कर चेतावनी देते हुए कहाँ कि- ‘इसे खाली कर दें, नहीं तो बुलडोजर चल जाएगा”, जबकि एसके दत्ता बताते रहे कि यह भवन उन्हें नगर पालिका परिषद से बीस वर्ष पहले विधिवत आवंटित हुआ है. और वे इसका नियमित किराया नगर पालिका को जमा करते हैं. आईएएस एसडीएम अपने रौब में कोई बात सुनने की बजाय आवंटी को लगभग धमकी देने के अंदाज में अखबार के दफ्तर को तीन दिन में जमीदोज़ करने की बात करके निकल गयें. इस अवसर पर क्लब के अध्यक्ष आशुतोष द्विवेदी, संयोजक अरविंद सिंह, श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के जिलाध्यक्ष राम अवध यादव, एसके दत्ता, वसीम अकरम, महेंद्र सिंह, रत्न प्रकाश त्रिपाठी, वेदप्रकाश सिंह लल्ला, पंचानन तिवारी, सचिन श्रीवास्तव, उपजा के संतोष श्रीवास्तव, जगदंबा उपाध्याय, मनीष पांडे, राजीव रंजन, आदि लोग उपस्थित थे.
ज्ञापन का मांगपत्र नीचे है..

सेवा में,
जिला मजिस्ट्रेट
जनपद-आजमगढ़
महोदय,
प्रार्थी, सुनील कुमार दत्ता जनपद आजमगढ़ का वरिष्ठ स्वतंत्र पत्रकार और दस्तावेजी छायाकार है. प्रार्थी की पत्नी इन्ही दत्ता के नाम दिनांक 18-9-2000 को नगर पालिका परिषद आजमगढ़ द्वारा रैदोपुर स्टेट बैंक के निकट ट्यूबलेस से सटे विधिवत् एक भूखंड 15×10 वर्गफुट आवंटित किया था, निर्धारित आवंटन की शर्तों के अधीन उक्त भूखंड पर निर्माण प्रार्थी को अपने निजी फंड से करना था, तथा हर माह किराया मूल्य 250/- रूपये नगर पालिका परिषद को जमा करना था. जिसके आदेश के क्रम में उक्त निर्माण 20 साल पहले किया गया और निर्धारित शुल्क नियमित ढंग से नगर पालिका परिषद आजमगढ़ को जमा किया जाता है तथा बिजली का वैध कनेक्शन भी है.
दिनांक 22-1-2021 को अचानक से उपजिलाधिकारी सदर हमारे उक्त कार्यालय(दुकान) पर पहुँचे जिसमें वर्तमान में हिंदी दैनिक पायोनियर का ब्यूरो कार्यालय संचालित है और चेतावनी देते हुए बोले- ”इसे खाली कर दीजिए, इसको गिरवाना है”. जबकि इस भवन से न तो सड़क पर अतिक्रमण हुआ है और नहीं सार्वजनिक आवागमन ही बाधित होता. जिसको आप कभी भी अवलोकन कर सकते हैं.
अत: आप महानुभाव से निवेदन है कि विधिक रूप से नगर पालिका परिषद आजमगढ़ द्वारा दो दशक से आवंटित और निर्बाध संचालित किरायेदारी में दोनो पक्षों को जब कोई ऐतराज नहीं है. तो ऐसे में उपजिलाधिकारी सदर द्वारा अनावश्यक दखल विधिक रूप से न्यायोचित नहीं है.अतएव उन्हें हमारी किराएदारी और अनावश्यक अतिक्रमण के नाम पर उत्पीड़न करने से तत्काल रोकने की कृपा करें. जिससे प्रार्थी उक्त कार्यालय को निड़र होकर संचालित कर सके.
संलग्न-1-आवंटन की छाया प्रति.
2- शर्तों की छाया प्रति.
3- किराया रसीद की छाया प्रति.
4- बिजली बिल की छाया प्रति.

दिनांक-23-01-2021 भवदीय

                                              एसके दत्ता, वरिष्ठ    
                                        पत्रकार, दस्तावेजी छायाकार

विशेष अनुरोध: जर्नलिस्ट क्लब आजमगढ़ की तरफ से जिलाधिकारी महोदय से सादर अनुरोध है कि हमारे वरिष्ठ पत्रकार साथी के वैध आवंटन और कार्यालय संचालन में उपजिलाधिकारी सदर द्वारा अनावश्यक हस्तक्षेप को रोका जाए. जिससे यह परिवार निड़र होकर अपनी आजीविका चला सके.

संयोजक अध्यक्ष

पदाधिकारीगण