कानून व्यवस्था बदतर, महामहिम राज्यपाल चुप क्यों….?-अजय कुमार लल्लू

  • योगीराज में अपराधी हुए बेलगाम, कानून व्यवस्था वेंटिलेटर पर
  • यूपी में नहीं थम रहा है हत्याओं का दौर, कोरोना और अपराध में लगी है होड़
  • अपराध रोकने का कोई स्पष्ट ब्लूप्रिंट नही है योगी सरकार के पास
  • योगी को इस्तीफा दें, प्रदेश की जनता से माफी मांगे

लखनऊ, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश में जारी हत्याओं के दौर पर योगी सरकार को घेरते हुए उनके इस्तीफे की मांग की और कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नाकाम कानून व्यवस्था पर प्रदेश की जनता से माफी मांगे। अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में नाकाम कानून व्यवस्था के लिए योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए उनकी इस्तीफे की मांग की। उन्होंने योगी को घेरते हुए कहा कि अपराध और हत्या के बढ़ते ग्राफ के लिए योगी जनता जनार्दन से माफी मांगे।

प्रदेश की कानून व्यवस्था योगी के रामराज्य में ध्वस्त हो गयी है। योगी राज में अपराधी बेलगाम और मनबढ़ हो गए है और पूरी कानून व्यवस्था वेंटिलेटर पर है, और उसकी सांसे उखड़ रही है । अजय कुमार लल्लू ने कहा कि पिछले महीने में ही कांग्रेस की महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गाँधी और स्वयं उन्होंने योगी को पत्र लिखकर ध्वस्त हो चुकी कानून व्यवस्था को लेकर चेताया था और लॉ एंड आर्डर को दुरुस्त करने को लिखा था, पर हठी योगी सरकार सुझाव को अनदेखा कर अपनी टीम 11 के झूठे आंकड़े से प्रदेश की जानता को गुमराह कर रही है। पार्टी प्रभारी लगातार कानून व्यवस्था को लेकर ट्वीट भी कर रही है। उन्होंने आगे कहा कि अपराध रोकने और जनता को राहत दिए जाने की बजाये योगी आवाज उठाने वाले लोगो पर ही फर्जी मुकदमे पंजीकृत करवा रही है।

प्रदेशअध्यक्ष ने आगे कहा कि योगी सरकार के पास अपराध रोकने का कोई स्पष्ट ब्लू प्रिंट नही है। यूपी में नहीं थम रहा है हत्याओं का दौर, कोरोना और अपराध में लगी है होड़, कभी कोरोना टॉप पर तो कभी अपराध टॉप पर। पर इस पूरे मामले में अपराधिक चुप्पी ओढ़े है। पीएम के संसदीय क्षेत्र बनारस में बदमाशों ने दिनदहाड़े दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी। गोलियों की गूंज है, हत्याओं की बाढ़ है, बेगुनाहों का बहता खून है लेकिन मुख्यमंत्री सदन में अपराध कम होने का दम भरते है।

अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में पिछले 24 घंटे में हुयी वारदातों का विवरण देते हुए कहा कि  नोएडा में 2 दिन से लापता 8 साल के बच्चे की निर्मम हत्या कर दी गई। जालौन में महिला सिपाही के पति की हत्या, अमरोहा में हत्या। गाजीपुर में छात्र की चाकुओं से गोंदकर हत्या। हरदोई में पूर्व कोटेदार की पीट पीट के हत्या, बाराबंकी में सर कटा शव बरामद,लखनऊ में चिनहट क्षेत्र में गोलीबारी, अम्बेडकरनगर में दबंगों ने युवक को गोली मारी। हत्याओं की बाढ़ है। ‘जंगलराज’ हर रोज बेगुनाहों को लील रहा है। सत्ता बेगैरत हो चुकी है, आम आदमी त्रस्त है। पर सूबे के मुख्यमंत्री और महामहिम राज्यपाल ने साजिशी चुप्पी ओढ़ रखी है।