किसान विरोधी है योगी सरकारः अजय कुमार लल्लू

यूरिया की कालाबाजारी के खिलाफ 21 अगस्त को कांग्रेस का प्रदेशव्यापी धरना-प्रदर्शन, प्रदेश में यूरिया की कालाबाजारी को मिल रहा है सरकारी संरक्षण।

लखनऊ, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रदेश में चल रही यूरिया की कालाबाजारी और किल्लत के खिलाफ 21 अगस्त को प्रदेशव्यापी धरना-प्रदर्शन करेगी। प्रदेश में व्याप्त यूरिया संकट मुख्य रूप से सरकार प्रायोजित एक संकट है जिसके खिलाफ कांग्रेस आम जनता और किसानों के बीच योगी सरकार को बेनकाब करेगी।

उत्तर प्रदेश में चल रही यूरिया की खुलेआम कालाबाजारी और इस वजह से इसकी किल्लत के खिलाफ राज्य कांग्रेस ने सड़क पर उतरने का ऐलान किया है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने कहा कि प्रदेश में व्याप्त यूरिया की दिक्कत मुख्य रूप से सरकार द्वारा प्रायोजित एक संकट है। इसके खिलाफ कांग्रेस 21 अगस्त को प्रदेशव्यापी प्रदर्शन करेगी।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा है कि प्रदेश में जिस तरह से सहकारी समितियों से यूरिया खाद गायब कर दी गयी है,  उससे यह साफ होता है कि प्रदेश में यूरिया की कालाबाजारी सरकारी संरक्षण में की जा रही है। सरकार समर्थित बिचैलियों ने प्रदेश में यूरिया संकट पैदा करके किसानों को बर्बाद करने का जो षडयंत्र रचा है उसमें पूरी तरह से भाजपा सरकार शामिल है। आपदा काल में यह कालाबाजारी किसानों को कमर तोड़ने का काम कर रही है । कोरोना आपदा, प्राकृतिक मार-बाढ़ और ओलावृष्टि से पहले ही किसान टूट गया है।  

अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में कहा कि योगी सरकार सहकारी समितियों को नष्ट करने का कुचक्र रच रही है ताकि प्रदेश के किसानों को पूरी तरह से बाजार के हवाले करके निजी क्षेत्र को मजबूत कर सके। उन्होंने आगे कहा कि हालात इतने खराब है कि किसानों को खाद उपलब्ध कराने के लिए विधानसभा अध्यक्ष ने सहकारिता मंत्री को पत्र लिखना पड़ा।

उन्होंने आगे कहा कि यूपीए सरकार के लिए किसान हित सबसे ऊपर था। भाजपा सरकार का किसान विरोधी चेहरा अब बेनकाब हो चुका है। सरकार पूरी तरह से पूंजीपतियों के गोद में बैठ गयी है। किसान विरोधी इस सरकार के खिलाफ सड़क से लेकर सदन तक कांग्रेस पार्टी संघर्ष करेगी।