किसी ग़ैर-गांधी को संभालना चाहिए कांग्रेस का नेतृत्व-प्रियंका गांधी

दिल्ली,कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि किसी ग़ैर-गांधी को पार्टी का नेतृत्व संभालना चाहिए.प्रियंका गांधी ने ये बातें एक किताब में छपे इंटरव्यू में कही हैं और इस ख़बर को अंग्रेज़ी अख़बार टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने प्रमुखता से प्रकाशित किया है.

प्रियंका ने कहा, “जैसा कि राहुल ने कहा था कि हममें से किसी को पार्टी का अध्यक्ष नहीं होना चाहिए, मैं उनसे पूरी तरह सहमत हूं. मुझे ये भी लगता है कि अब पार्टी को अपना रास्ता तलाशने की ज़रूरत भी है.”

क्या कांग्रेस, बीजेपी के ख़िलाफ़ धारणा की लड़ाई हार चुकी है? इस सवाल के जवाब में प्रियंका ने कहा, “मुझे लगता है कि कांग्रेस ने न्यू मीडिया (सोशल मीडिया) को समझने में देरी कर दी और जब तक पार्टी ने इसके ज़रिए अपने विचार रखना शुरू किया, तब तक काफ़ी नुक़सान हो चुका था.”

प्रियंका गांधी ने कहा कि अगर कोई ‘ग़ैर गांधी’ पार्टी का अध्यक्ष बना तो वो उसने निर्देशों का पालन करेंगी.प्रियंका ने ये भी कहा कि उनने पति रॉबर्ट वाड्रा पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की वजह से उनके बेटे और बेटी को किस तरह की मुश्किलें झेलनी पड़ीं.

उन्होंने बताया, “जब मेरे पति पर ये सभी आरोप लगे तो मैंने सबसे पहले अपने 13 साल के बेटे के पास जाकर उसे सारी चीज़ें समझाईं. मैंने उसे हरेक ट्रांज़ैक्शन दिखाया. यही बातें मैंने अपनी बेटी को भी समझाईं. मैं अपने बच्चों से कोई बात नहीं छिपाती, यहां तक की अपनी ग़लतियां और कमज़ोरियां भी नहीं.”प्रियंका ने बताया, “मेरा बेटा लड़कों के बोर्डिंग स्कूल में था और वाड्रा पर लगे आरोपों की वजह से उसे वहां बहुत दिक्कतें हुईं.”