कोटेदार की मनमानी की शिकायत के बाद जांच के नाम पर महज हुई खानापूर्ति,नहीं हुई कोई कार्यवाही

– अम्बरेश यादव
भेलसर(अयोध्या)रूदौली तहसील क्षेत्र के बरतरा ग्राम सभा के कोटेदार रोशन लाल द्वारा लाभार्थियों से अभद्रता व घटतौली व मनमाने दाम वसूलने की शिकायत लाभार्थियों ने उपजिलाधिकारी रूदौली सहित मुख्मयंत्री पोर्टल पर आनलाईन की थी।लाभार्थी अवधेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि जनवरी 2020 से अब तक केवल एक बार मिट्टी का तेल वितरण हुआ है और कोटेदार प्रति यूनिट के हिसाब से तीन रूपया चंदा माँगता है और कहने पर बताता है पूर्तिनिरिक्षक को चंदा देना पडता है।प्रति यूनिट के हिसाब से शासन द्वारा भेजे गये अनाज भी कम देता है तथा गरीबो के हक पर डाका डाल रहा है।शिवबहादुर पाण्डेय व अवधेश पाण्डेय सहित आदि लाभार्थी ने शिकायत की थी।इस सम्बन्ध मे उपजिलाधिकारी बिपिन सिंह ने कहा था जाँच कराई जाएगी शिकायत में सत्यता मिलने पर दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।लेकिन जाँच के नाम पर महज खानापूर्ति की गई।पूर्ति निरीक्षक विनोद यादव ने जांच की आख्या रिपोर्ट में कहा कि लाभार्थी अपात्र है और कोविड-19 का बिना पालन किये ही राशन लेने गया था।बाद में मास्क लगाने पर राशन दिया था।जबकि शिकायतकर्ता ने बताया कि मास्क लगाकर गया था।मामले को कोविड-19 का हवाला देकर गलत रिपोर्ट लगाई गई है।किसी से कोई पूछताछ नही हुई है।महज जांच के नाम पर खानापूर्ति हुई है।शिकायतकर्ता ने कहा कि कोटेदार के लड़के के नाम अंत्योदय कार्ड जारी है।जो अविवाहित मुखिया के नाम दर्ज है।एक दलित का नाम काटकर अमित कुमार के नाम जारी किया गया है जो अपात्र है।शिकायतकर्ताओं ने मामले की जाँच अन्य एजेंसी से कराने की भी मांग की है।