कोविड प्रोटोकाल एवं सोशल डिस्टेंसिग का स्वंय पूर्ण पालन कराये-मण्डलायुक्त

अयोध्या , मण्डलायुक्त एमपी अग्रवाल, अपर पुलिस अधीक्षक एएन सांवत, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार, एसपीजे के प्रमुख अधिकारियो के साथ आज साकेत महाविद्यालय के सभागार में प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम 05 अगस्त 2020 के कार्यक्रम के संबंध में अधिकारियो की ब्रीफिंग की गई जिसमें कहा कि जो अधिकारी जहाॅ पर तैनात है वही पर पूरी क्षमता के साथ ड्यूटी करे। कोविड प्रोटोकाल एवं सोशल डिस्टेंसिग का स्वंय पूर्ण पालन कराये तथा तैनाती स्थल के आसपास कोविड-19 के सभी गाइड लाइन का पूर्णतः पालन कराये एक दूसरे से सटे नही एक स्थान पर 05 से अधिक व्यक्ति एकत्र न होने पाये यदि कोई व्यक्ति मास्क नही पहने है तो उसको उसी स्थल पर रोककर वापस कर दे।

राम की पैड़ी पर 05 गेट बने है वहाॅ पर बैरियर लगाकर नियंत्रण किया जाये और स्वर्गद्वार को छोड़कर सुनिश्चित करे कि ओबी वैन व दीप प्रज्वलन के कार्य में लगाये वाहन के अतिरिक्त अन्य कोई वाहन न जाने पाये सोशल डिस्टेंसिंग का मीडिया कर्मी भी पालन करे इसकी अपील शासन एवं प्रशासन के अधिकारियो ने की है। मीडिया कर्मीयो के वाहन आदि संबंधी की पार्किंग नया घाट बन्धा तिराहा से रेलवे पुल के बीच स्थित खाली स्थान पर पार्किंग की व्यवस्था हेतु पुलिस के अधिकारी तथा प्रशासनिक अधिकारी से समन्वय करे, तथा पत्रकार इलेक्ट्रानिक मीडिया के लोगो को उनके मान्यता प्राप्त कार्ड व परिचय पत्र के आधार पर मीडिया सेन्टर व राम की पैड़ी तक आने दे।

प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम में जो गणमान्य व्यक्ति आमंत्रित है उसके अतिरिक्त किसी भी अन्य व्यक्ति को उनके साथ न आने दे। मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारी अपने-अपने तैनाती स्थल का बारीकी से भ्रमण कर उस स्थान की जानकारी प्राप्त करने के साथ परिचित हो ले ताकि कोई भ्रम की स्थित न रहे। भारत सरकार के गृह मुत्रालय के निर्देशानुसार सभी की थर्मल स्क्रीनिंग प्रवेश प्वाइंट पर किया जाये तथा पर्याप्त संख्या में सेनेटाइजर, मास्क, पेससील पर्याप्त मात्रा में सभी अधिकारी अपने पास रखना सुनिश्चित करे तथा प्रधानमंत्री जी के सम्पूर्ण कार्यक्रम को शान्ति एवं सद्भाव के साथ सफल बनाने में अपनी पूरी क्षमता को लगाकर कार्यक्रम को सफल बनाये। तथा प्रशानिक एवं पुलिस के अधिकारियो की जिस भी स्थल पर ड्यूटी लगी है वह अधिकारी कार्यक्रम के समाप्ति के पश्चात तबतक अपने तैनाती स्थल को न छोड़े।