जिलाधिकारी का औचक निरीक्षण,शिथिल पर्यवेक्षण पर नोडल अधिकारी को हटाये जाने का निर्देश

जिलाधिकारी ने एल-1 सीसीसी राजकीय महिला पाॅलीटेक्निक रिसिया का किया औचक निरीक्षण
शिथिल पर्यवेक्षण पर नोडल अधिकारी को हटाये जाने का दिया निर्देश।

बहराइच, जिलाधिकारी ने एल-1 सीसीसी राजकीय महिला पाॅलीटेक्निक के निरीक्षण के दौरान शिथिल पर्यवेक्षण का दोषी पाये जाने पर तत्काल प्रभाव से अपर मुख्य चिकित्साधिकारी/नोडल अधिकारी डाॅ0 अजीत चन्द्रा को तत्काल नोडल अधिकारी के पद से हटाये जाने के साथ-साथ सम्बन्धित के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही प्रस्तावित किये जाने का निर्देश दिया। मुख्य चिकित्साधिकारी को यह भी निर्देश दिया गया कि एल-1 सीसीसी राजकीय महिला पाॅलीटेक्निक रिसिया के सुचारू संचालन के आवश्यक संसाधनों का कम-से-कम एक सप्ताह का स्टाक अवश्य रखा जाय।

जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना व ज्वाईन्ट मजिस्ट्रेट सूरज पटेल व अन्य सम्बन्धित अधिकारियों के साथ एल-1 सीसीसी राजकीय महिला पाॅलीटेक्निक रिसिया बहराइच का औचक निरीक्षण कर बिजली, पानी साफ-सफाई तथा मरीज़ों का प्रदान की जा रही सुविधाओं का जायज़ा लेते हुए मौके पर ही मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि यहाॅ पर भर्ती मरीज़ों को शासन द्वारा अनुमन्य सुविधाएं मानक एवं गुणवत्ताा के अनुसार उपलब्ध करवायी जायें।


निरीक्षण के दौरान पाॅलीटेक्निक के प्रधानाचार्य सहित अन्य सहायकों के अनुपस्थित रहने का कड़ा संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने प्रचानाचार्य सहित अन्य जिम्मेदारों का अग्रिम आदेश तक वेतन बाधित करने के साथ ही साथ स्पष्टीकरण प्राप्त किये जाने का निर्देश दिया। एल-1 सीसीसी राजकीय महिला पाॅलीटेक्निक के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने अधि.अभि. विद्युत वितरण खण्ड नानपारा को निर्देश दिया कि विभाग के कर्मचारियों की ड्यूटी लगा दी जाये कि वे प्रतिदिन चिकित्सालय का निरीक्षण कर विद्युत व्यवस्था का सुचारू संचालन सुनिश्चित करायें। इसी तरह अधि.अभि. जल निगम को निर्देशित किया गया कि निर्बाध जलापूर्ति सुनिश्चित कराये जाने के लिए एक कर्मचारी की ड्यूटी लगा दी जाय।  


एल-1 सीसीसी राजकीय महिला पाॅलीटेक्निक के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने भोजन की गुणवत्ता को परखने के उद्देश्य से मरीज़ों को दिये जाने वाले लंच पैकेट का निरीक्षण करते हुए निर्देश दिया कि सभी मरीज़ों को गुणवत्तापरक भोजन उपलब्ध कराया। इसी सन्दर्भ में श्री कुमार ने उप जिलाधिकारी सदर को निर्देश दिया कि समय-समय पर आकस्मिक निरीक्षण कर मानक के अनुसार भोजन की गुणवत्ता का सुनिश्चित करायें।


निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी श्री कुमार ने मोबाइल के माध्यम से मरीजों का कुशलक्षेम पूछते हुए उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ होने की कामना की। जिलाधिकारी ने मरीज़ों से वार्ता के दौरान उन्हें उपलब्ध करायी जा रही सुविधाओं इत्यादि के बारे में भी जानकारी प्राप्त की।इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. सुरेश सिंह, उप जिलाधिकारी सदर जी.पी. त्रिपाठी, जिला पंचायत राज अधिकारी उमाकान्त पाण्डेय, अधि.अभि. जल निगम आर.बी. राम, अधि.अभि. विद्युत नानपारा कृष्ण कुमार, खण्ड विकास अधिकारी रिसिया रवि शंकर प्रधान सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।