जिलाधिकारी ने कोविड-19 से ग्रसित व्यक्तियों को अस्पतालों में उपलब्ध कराई जा रही चिकित्सीय सुविधाओं आदि की ली जानकारी

अयोध्या, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने विकास भवन में कोरोना वायरस (कोविड-19) की  रोकथाम हेतु संचालित एकीकृत आपदा नियंत्रण केन्द्र में नगर आयुक्त नीरज शुक्ला, मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार व अन्य संबंधित अधिकारियों से जनपद में कोविड -19 के प्रसार की रोकथाम व बचाव संबधी नियंत्रण क्षेत्रों में किए जा रहे कार्यों  व कोविड-19 से ग्रसित व्यक्तियों को अस्पतालों में उपलब्ध कराई जा रही चिकित्सीय सुविधाओं आदि की जानकारी ली।
      इस अवसर पर जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त से नगर निगम के कंटेनमेंट क्षेत्रों की संख्या व उसमें संक्रमण के प्रसार की रोकथाम हेतु कांटेक्ट ट्रेसिंग,  सैम्पलिंग, डिसिन्फेक्शन, सीलिंग आदि विषयों की समीक्षा करते हुए कहा कि नगर निगम में आधिक संख्या में कोविड- 19 से संक्रमित व्यक्ति सामने आ रहे हैं ऐसे में पुराने नियंत्रण क्षेत्र समाप्त हो रहे हैं या नहीं की मानिटरिंग कर ले यदि कोई नियंत्रण क्षेत्र लंबी अवधि तक समाप्त नहीं हुआ है तो  उसमें कांटेक्ट ट्रेसिंग, डिसइन्फेक्शन, सीलिंग आदि की समीक्षा कर देख ले कि कहीं कोई कमी तो नहीं रह गई जिससे वहां पर संक्रमित व्यक्ति आते रहे हैं। जिलाधिकारी ने जनपद के सभी नियंत्रण क्षेत्रों में कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम हेतु जारी दिशा -निर्देशों का अक्षरश अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने नियंत्रण क्षेत्रों में किये जा रहे डिसइन्फेक्शन, सीलिंग, कांटेक्ट ट्रेसिंग, सैम्पलिंग आदि कार्यों की नियमित समीक्षा करने हेतु नगर आयुक्त को निर्देशित किया। उन्होंने नगर आयुक्त को अगले शनिवार व रविवार को विशेष संचारी रोग अभियान के अंतर्गत किए जाने वाले स्वच्छता संबंधी कार्यों की वार्ड वार व स्पॉटवार कार्य योजना अभी से तैयार करने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने सभी मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने, अस्पतालों में नियमित साफ-सफाई सुनिश्चित कराने, समय पर गुणवत्तापूर्ण भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी द्वारा कोरेन्टीन में लोगों के बारे भी जानकारी ली गई।
                 इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा नगर निगम के साथ – साथ जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों  व अन्य निकायों में भी कोरोना पॉजिटिव पाये गए व्यक्तियों के कांटेक्ट सर्वे की स्थित व पॉजिटिव व्यक्तियों के सीधे संपर्क में आए लोगों सैम्पलिंग कार्यों की गहन समीक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी व्यक्ति के कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसके संपर्क में आए लोगों के सर्वे का कार्य तीव्र गति से किया जाए तथा उसके सीधे संपर्क में आए लोगों की भी यथाशीघ्र कोरोना जांच कराई जाए व उसे कोरेन्टीन किया जाए।