प्रेग्नेंसी व कोरोनावायरस से जुड़े सवाल

डब्ल्यूएचओ के प्रेग्नेंसी व कोरोनावायरस से जुड़े कुछ सवालों के जवाब दिए हैं, क्या कोरोना संक्रमित महिला बच्चे को ब्रेस्टफीड करा सकती है, क्या संक्रमित महिला को सिजेरियन डिलीवरी की आवश्यकता है…कोरोनावायरस से जुड़े ऐसे कई सवाल गर्भवती स्त्रियों के मन में होंगे.

1- क्या गर्भवती स्त्रियों को कोरोनावायरस का खतरा अधिक है….?

डब्ल्यूएचओ – दुनियाभर में इस पर रिसर्च जारी है लेकिन अब तक कोई ऐसा प्रमाण नहीं मिला है जो साबित करे कि आम लोगों को मुकाबले गर्भवती स्त्रियों को कोरोना संक्रमण का खतरा ज्यादा है. हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती स्त्रियों के शरीर में कई परिवर्तन होते हैं जिससे उन्हें सांस से जुड़ा संक्रमण होने का खतरा होने कि सम्भावना है. इसलिए महत्वपूर्ण सावधानी जरूर बरतें. बुखार, खांसी व सांस लेने में तकलीफ होने पर डॉक्टरी सलाह लें.

2 – मैं प्रेग्नेंट हूं, मैं खुद को कोरोना के संक्रमण से कैसे दूर रखूं….?डब्ल्यूएचओ – गर्भवती स्त्रियों को भी वही सावधानी बरतने की आवश्यकता है जो आम लोगों को सलाह दी जा रही है.


3 – क्या कोरोना से पीड़ित महिला को सिजेरियन डिलीवरी की आवश्यकता है….?डब्ल्यूएचओ – नहीं. सिजेरियन डिलीवरी की सलाह तभी दी जाती है जब चिकित्सक के मुताबिक ठीक हो. हर महिला की डिलीवरी का प्रकार उसकी स्थितियों पर निर्भर करता है.


4 – क्या कोरोना संक्रमित महिला बच्चे को ब्रेस्टफीड करा सकती है….?
डब्ल्यूएचओ – हां, वह ऐसा कर सकती है लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखना महत्वपूर्ण है, जैसे ब्रेस्टफीड कराते समय मास्क पहनें, बच्चे को छूने से पहले व बाद में हाथ जरूर धोएं. अगर कोरोना से संक्रमित हैं व बच्चे को ब्रेस्टफीड कराने की स्थिति में नहीं है तो एक्सप्रेसिंग मिल्क या डोनर ह्यूमन मिल्क का प्रयोग कर सकती हैं.

5- प्रेग्नेंसी व डिलीवरी के दौरान क्या सावधानी बरतने की आवश्यकता है….?
डब्ल्यूएचओ – हर गर्भवती महिला को सावधानी बरतने की आवश्यकता है चाहें वो कोरोना से संक्रमित हो या न हो.डिलीवरी के दौरान महिला के ख़्वाहिश मुताबिक, किसी पारिवारिक मेम्बर का होना महत्वपूर्ण है. मैटरनिटी स्टाफ से सीधी वार्ता होनी चाहिए.अगर संक्रमण की पुष्टि होती है तो हेल्थ वर्कर को महत्वपूर्ण सावधानी बरतने की आवश्यकता है ताकि दूसरी महिलाएं न प्रभावित हों. ऐसी स्थिति महिला के पास हैंड सैनेटाइजर, मास्क, गाउन व मेडिकल मास्क होना महत्वपूर्ण है.


6- क्या गर्भवती महिला को कोरोना की जाँच की आवश्यकता है….?
डब्ल्यूएचओ : जांच की कितनी आवश्यकता है, यह इस पर निर्भर करता है कि आप कहां रहती है. अगर संक्रमण से जुड़ा कोई भी लक्षण महसूस होता है तो तुरंत जाँच कराएं क्योंकि ऐसी स्थिति में खास देखभाल की आवश्यकता होती है.

7 – क्या कोरोनावायरस गर्भवती महिला से उसके होने वाले बच्चे में पहुंच सकता है….?
डब्ल्यूएचओ : गर्भवती महिला से उसके होने वाले बच्चे में वायरस पहुंचने की कोई जानकारी नहीं सामने आई है. अब तक गर्भवती महिला के एम्नियोटिक फ्लूइड व ब्रेस्ट मिल्क में कोरोनावायरस नहीं मिला है.