पीएम किसान सम्मान निधि मे लाखो का फर्जीवाडा

पीएम किसान सम्मान निधि मे लाखो का फर्जीवाडा,पीएम सम्मान निधि पाने से वंचित किसानों की फीडिंग नही कर रहा कृषि विभाग,जिसका जुगाड़ उसकी फीडिंग।

अब्दुल जब्बार एडवोकेट व जगदम्बा श्रीवास्तव

अयोध्या, भेलसर रूदौली तहसील क्षेत्र के सैकड़ो किसान अभी भी किसान सम्मान निधि पाने से वंचित है।कृषि विभाग की तमाम कवायद के बाद भी पात्र किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ पाने के लिए विभाग का चक्कर काट रहे है।क्षेत्र के सैकड़ों किसानों का अभी तक विभाग में नाम तक फीड नही हो पाया है वही जिसका आधार या बैक खाता गलत है उसे ठीक करा पाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।पीएम किसान सम्मान निधि योजना केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में आती है।जिसमे प्रत्येक किसान को साल में छः हजार रुपए मिलते है लेकिन रूदौली तहसील में कृषि विभाग की तरफ से फीडिंग के लिए संविदा पर लगाए गए कम्प्यूटर आपरेटरो में काफी घोटाला किया है।

पीडित किसान रमेश कुमार,शत्रोहन यादव,अमित,लवकुश,शिव दयाल,देवराज,राम मूरत वर्मा,धुख राम,अखिलेश कुमार,राम आशीष,राम मिलन,दुख राम आदि ने आरोप लगाया है कि रुपये लेकर संविदा पर तैनात कम्प्युटर आपरेटरो ने काफी गलत फीडिंग कर दी है।जिनका नाम खतौनी में है ही नहीं उन्हें भी किसान बना कर उनके खातों में हजारो रुपये पहुंच गए।किसी के खाते मे दो किस्त तो किसी के खाते मे दस दस हजार रुपया आ चुका है।जबकि सही किसान फीडिंग के लिए चक्कर लगा रहे है।

पीडित किसानो ने आरोप लगाया कि हम लोगो ने कई बार आधार कार्ड,बैंक पासबुक की छायाप्रति व खतौनी की नकल सहित अन्य कागज कृषि विभाग व हल्का लेखपाल को दिया लेकिन पात्र होते हुये भी हम लोगो को पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ नही मिल पाया है उन्होने बताया कि ग्राम परसऊ,हसनामऊ,खण्डपिपरा,फगोली कुर्मियान,शाहपुर सहित रुदौली ब्लाक के ग्रामो की जांच कराई जाय तो सैकडो की संख्या मे फर्जी किसानो की फीडिंग सामने आ जायेगी।इस सम्बंध मे जिला कृषि अधिकारी वीके सिह ने बताया कि जिसका नाम खतौनी मे है उसी को किसान सम्मान निधि का लाभ मिल सकता है यदि  कोई फर्जी रूप से किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहा है तो उसकी जांच कराकर उसके खिलाफ विधिक कार्यवाही कर धन वसूली की कार्यवाही की जायेगी।