पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास जी की 35 वीं पुण्यतिथि पर दी गयी भावपूर्ण श्रद्धांजलि

लखनऊ, बाबू बनारसी दास नगर निवासी कल्याण समिति द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री व स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बाबू बनारसी दास गुप्ता जी की 35वीं पुण्यतिथि (03अगस्त) के अवसर पर पुराना किला स्थित उनके आवास पर बी.बी.डी. ग्रुप की चेयरपर्सन श्रीमती अलका दास गुप्ता व बी.बी.डी. ग्रुप के चेयरमैन श्री विराज सागर दास, बाबू जी पौत्री कु0 सोनाक्षी दास ने स्व0 बाबू बनारसी दास जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके बताये रास्ते पर चलने की प्रतिबद्धता दोहराई। इस मौके पर बीबीडी ग्रुप के परिवार के सदस्यों ने भी स्व0 बाबू बनारसी दास जी के आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया।


इस अवसर पर बाबू बनारसी दास जी के निजी सचिव रहे धर्म सिंह ने भी बाबू जी को श्रद्धांजलि अर्पित कर बाबू बनारसी दास जी को याद करते हुए उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि बाबू बनारसी दास ने आजादी के आन्दोलन में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होने शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान दिया तथा समाज के आखिरी व्यक्ति तक शिक्षा को पहुंचाने के लिए अनेकों कार्य किए। उनके इस अभियान को उनके सबसे छोटे पुत्र एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री रहे स्व0 डाॅ0 अखिलेश दास गुप्ता ने आगे बढ़ाया। आज बीबीडी एजूकेशनल सोसाइटी के तत्वावधान में पूरे भारत और दुनिया तक बीबीडी के विद्यार्थियों की ख्यातिप्राप्त उपलब्धियां स्व0 डाॅ0 अखिलेश दास गुप्ता और उनके पूज्य पिता स्व0 बाबू बनारसी दास की शिक्षा के प्रति उल्लेखनीय योगदान को बयां कर रही हैं।


संस्था द्वारा इस मौके पर देश में कोरोना संक्रमण के कारण दिवंगत हुए देशवासियों को भी श्रद्धांजलि अर्पित कतरे हुए लोगों से सरकार व विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी किए गए निर्देशों एवं सुझावों का पालन किए जाने की भी अपील की गयी।इस मौके पर प्रमुख रूप से स्व0 बाबू बनारसी दास के निजी सचिव रहे धर्म सिंह, अरूण गुप्ता, श्री कैलाश पाण्डेय, अशोक सिंह, अचल मेहरोत्रा, डा. पी.एस. जायसवाल, वन्दना राज अवस्थी एडवोकेट ने स्व0 बाबू बनारसी दास जी के बताये रास्ते पर चलने का संकल्प लिया।बाबू जी की पुण्यतिथि के अवसर पर सुशील दुबे, राजीव बाजपेयी, सुबोध श्रीवास्तव, रेहान अहमद खान, निहाल खान, प्रिया गुप्ता, शान बख्शी सहित तमाम लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित की है और उनके बताये रास्ते पर चलने का संकल्प लिया।