प्रदेश की कानून व्यवस्था लकवाग्रस्त-अजय कुमार लल्लू

आजमगढ़, गोरखपुर, सीतापुर और लखीमपुर की बलात्कार की घटनाओं से दहला प्रदे।
कानून व्यवस्था को लेकर फर्जी आंकड़े तैयार करना ही योगी की टीम 11 का काम।
महिलाओं को सुरक्षा देने में पूरी तरह विफल है योगी सरकार।प्रदेश की कानून व्यवस्था हुयी लकवाग्रस्त, प्रदेश में जंगल राज कायम।बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली योगी सरकार में बेटियां सर्वाधिक असुरक्षि।

लखनऊ, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश में नाबालिग बच्चियों के साथ हो रहे गैंगरेप, हत्या और महिलाओं पर होने वाली दरिंदगी के खिलाफ योगी सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि प्रदेश बलात्कारियों का हब बन चूका है। पूरे प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चली है। महिलाओं को सुरक्षा देनें में योगी सरकार पूरी तरह से विफल है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में कहा कि लखीमपुर के वीभत्स गैंगरेप और हत्या की सियाही अभी सूख भी ना पाई थी कि आजमगढ़ और योगी के गृह जनपद गोरखपुर की बलात्कार की घटना ने झाकझोर के रह दिया है। आजमगढ़ में किशोरी के साथ गैंगरेप के बाद हत्या की गयी तो वहीँ गोरखपुर में बलात्कार के बाद दरिंदो ने दरिंदगी की सारी हदे तोड़ते हुए दलित किशोरी के शारीर को सिगरेट से दागा।      

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि लखीमपुर खीरी, सीतापुर, जालौन और अब गोरखपुर और आजमगढ़ की विभत्स घटनाओं से पूरा प्रदेश दहला हुआ है। लगातार इस तरह घटनाओं से यह साबित होता है कि महिलाओं को सुरक्षा देने में यह सरकार पूरी तरह विफल है ।

प्रदेश अध्यक्ष ने आगे कहा कि अपराधियों के मन मे कानून का डर समाप्त हो गया है। प्रदेश के अपराधी मनबढ़ ही चले है। कानून व्यवस्था दम तोड़ चुकी है। प्रदेश का ग्रहविभाग जो योगी जी के पास है लकवाग्रत हो चुका है। पुलिस और प्रशासन न तो सुरक्षा दे पा रहा है और न ही कोई ठोस न्याय संगत कार्यवाही ही कर रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी ने कानून व्यवस्था दुरुस्त करने और कड़े फैंसले लेने के बजाय टीम 11 बना रखी है जो मुख्य रूप से कानून व्यवस्था को लेकर फर्जी आंकड़े जुटाती है और जनता को गुमराह करने का काम करती है। पुलिस और प्रशासन न तो सुरक्षा दे पा रहे हैं और न ही उचित कार्रवाई कर पा रहे हैं।

उन्होंने योगी सरकार को सलाह देते हुए कहा कि योगी उत्तर प्रदेश सरकार कानून व्यवस्था की समीक्षा करे और महिलाओं की सुरक्षा सम्बंधित हर कदम गंभीरता से उठाए। ताकि बलात्कार का हब बन चूका प्रदेश में कानून का भय पैदा हो और ऐसी घटनाएं रूक सके।

प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में कहा कि “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ”  का नारा दे के सरकार बनाने वाले योगी की सरकार में महिलाएं और बच्चियां सबसे ज्यादा असुरक्षित है। उन्होंने आगे कहा कि महिलाओं और बच्चियों को सुरक्षा देने में योगी सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है। क्या तथाकथित ‘‘योगी मॉडेल’’ की यही सच्चाई है ?। मुख्यमंत्री मौन बने हुएहैं। सरकार को जवाब देना होगा कि आखिर उ0प्र0 में बहन – बेटियां सुरक्षित क्यूँ नहीं हैं?