फिर खुली नगर निगम की पोल

 लखनऊ, फिर खुली नगर निगम की पोल, जलभराव की गंभीर समस्या से क्षेत्र की हुई छीछालेदर।
गलियों के घरों में गंम्भीर जलभराव,घरों में भरा रहता है 6-6 घंटो तक पानी,बीमारियों को दिया जा रहा है बुलावा।
जलभराव में क्षेत्र में लगे बिजली के खम्बो में करंट आने का लगातार रहता है डर, *कोई हादसा हो जाने पर किसकी होगी ज़िम्मेदारी….?
पार्षद द्वारा महापौर,नगर आयुक्त, जोनल ऑफ़सर, नगर अभियंता सभी को अवगत कराने के बाद भी स्थिति ज्यों की त्यों।
पार्षद की मांग- साइफन की सफाई और 35 एचपी का पम्प लगने की क्षेत्र में सख्त जरूरत।
जोनल अधिकारी का कहना कि अभियंता का है कार्य,अभियंता का कहना कि नही मिल रहा है पंप,आरआर विभाग देगा पंप और आरआर विभाग के पंप की व्यवस्था कराने में बीत गया लगभग पूरा बरसात का अरसा और नही हो पाई पंप की कोई व्यवस्था।
एक ही साइफन पर आता है तीन वार्डो का पानी,साइफन पड़ा हुआ है ब्लॉक,नही हो रही है साइफन की भी सफाई।
पार्षद अरविंद यादव का आरोप- सपा पार्षद होने के कारण बातों को किया जाता है अनसुना और क्षेत्र की दिक्कतों को किया जाता है अनदेखा।
नगर निगम ज़ोन 5 के गीतापल्ली वार्ड के आज़ादनगर,गोपालपुरी,हसनापुर तिराहा क्षेत्र का मामला।