बकरीद व रक्षाबन्धन पर जनपद में सजगता व सतर्कता बरते जाने के निर्देश

ईद-उल-अज़हा (बकरीद), रक्षाबन्धन, 05 अगस्त के  अयोध्या कार्यक्रम, जन्माष्टमी तथा 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) के  दृष्टिगत प्रत्येक जनपद में सजगता व सतर्कता बरते जाने के निर्देश

  लखनऊ, योगी आदित्यनाथ  ने आगामी ईद-उल-अज़हा (बकरीद), रक्षाबन्धन, 05 अगस्त के अयोध्या कार्यक्रम, जन्माष्टमी तथा 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) के दृष्टिगत प्रत्येक जनपद में सजगता व सतर्कता बरते जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के पर्याप्त प्रबन्ध सुनिश्चित कर लिए जाएं। पर्वों एवं त्योहारों सहित अयोध्या व स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रमों को कोविड-19 प्रोटोकाॅल का पूर्णतया पालन करते हुए शान्तिपूर्वक सम्पन्न कराया जाए। उन्होंने शरारती व असामाजिक तत्वों पर भी कड़ी निगाह रखने के निर्देश दिए। 

मुख्यमंत्री  आज यहां अपने सरकारी आवास पर आगामी पर्वों व अयोध्या कार्यक्रम के सम्बन्ध में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वरिष्ठ पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने बाढ़ से बचाव व राहत कार्य, स्वच्छता व सैनिटाइजेशन सहित कोविड-19 नियंत्रण के सम्बन्ध में भी अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने संवेदनशील जनपदों व स्थलों के दृष्टिगत पूर्व तैयारी एवं कार्यवाही किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि पुलिस पेट्रोलिंग, पी0आर0वी0-112 पेट्रोलिंग की व्यवस्थाएं निरन्तर गतिशील रहें। विवाद की आशंकाओं को हर हाल में रोका जाए। असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।  मुख्यमंत्री  ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत अभी तक सभी त्योहार प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए मनाए गए हैं। सार्वजनिक स्थलों पर कोई कार्यक्रम नहीं हुआ है। इसी प्रकार, बकरीद को भी मनाया जाए। इसके दृष्टिगत साफ-सफाई रखी जाए। लोग घरों में रहकर ही त्योहार मनाएं। कोई भी कार्यक्रम सार्वजनिक स्थानों पर न हो। उन्होंने कहा कि सभी धर्मगुरुओं से संवाद स्थापित किया जाए। उनके माध्यम से लोगों को घरों में रहकर ही कार्यक्रम मनाए जाने की अपील की जाए। कई धर्मगुरुओं ने बकरीद के दृष्टिगत घरों में ही त्योहार मनाए जाने व सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाए जाने की अपील भी की है। 

योगी ने कहा कि रक्षाबन्धन पर्व को भी कोविड-19 प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए मनाया जाए। सार्वजनिक स्थल पर कोई कार्यक्रम आयोजित न होने पाए। रक्षाबन्धन के मद्देनजर महिलाओं के आवागमन में कोई असुविधा न हो। उनके प्रति किसी भी प्रकार की छेड़खानी, दुव्र्यवहार व आपराधिक घटनाओं को हर हाल में रोका जाए। लोग घरों में ही त्योहार मनाएं।  मुख्यमंत्री  ने सभी जनपदों में स्वच्छता व सैनिटाइजेशन के विशेष प्रबन्ध, निर्बाध विद्युत एवं जलापूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अधिकारीगण क्षेत्रों में भ्रमण करें। त्योहारों के सम्बन्ध में आवश्यक सावधानियों के दृष्टिगत त्योहार रजिस्टर का अवलोकन करते हुए कार्यवाही करें। कोई भी सार्वजनिक आयोजन न हो। संवाद से विवादों का समाधान स्थानीय स्तर पर निकाला जाए। सोशल मीडिया पर सतर्क दृष्टि रखी जाए। अफवाहों व भ्रामक खबरों को फैलने से रोका जाए और उनका तत्काल खण्डन हो। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अपराधमुक्त, भयमुक्त एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध है।  मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक जनपद में कोविड-19 के नियंत्रण के सम्बन्ध में जिलाधिकारी/सी0डी0ओ0/सी0एम0ओ0 के लिए 05 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। इससे एल-2 कोविड अस्पताल के बेडों में विस्तार तथा एल-3 हाॅस्पिटल बनाए जाने की कार्यवाही शीघ्रता से की जाए। उन्होंने कहा कि समय से कोविड संक्रमित व्यक्ति को चिन्ह्ति करते हुए उसे अस्पताल में भर्ती किए जाने की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। डोर-टू-डोर सर्वे तथा काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग का कार्य तत्परता से किया जाए। कन्टेन्मेण्ट जोन में एन0सी0सी0, एन0एस0एस0, भूतपूर्व सैनिक, सिविल डिफेंस आदि की सेवाएं ली जाएं।

योगी  ने कहा कि प्रत्येक जनपद में अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग टीमें बनाते हुए कार्य किए जाएं। सर्विलांस की कार्यवाही में कोताही न हो। खाद्यान्न वितरण में किसी भी प्रकार की शिकायत न मिले। प्रत्येक माह में 02 बार खाद्यान्न वितरण का कार्य सुनिश्चित किया जा रहा है। इसी प्रकार, बाढ़ नियंत्रण व राहत के कार्य समय रहते सुनिश्चित किए जाएं। बाढ़ की दृष्टि से संवेदनशील जनपदों में पर्याप्त नौकाओं व राशन किट की व्यवस्थाएं की जाएं। मेडिकल टीम निरन्तर कार्य करे। पशुओं के चारे का प्रबन्ध सुनिश्चित हो। संवेदनशील तटबन्धों की सुरक्षा की जाए। जलमग्न क्षेत्रों व गांवों में राशन किट के वितरण में किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए।  मुख्यमंत्री  ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत एम0एस0एम0ई0 सेक्टर को विशेष आर्थिक पैकेज के अन्तर्गत लाभान्वित किए जाने हेतु सभी जनपदों में बैंकर्स कमेटी की बैठकें कर ली जाएं। इसी प्रकार कृषि अवस्थापना के तहत मिलने वाले विशेष आर्थिक पैकेज का भी लाभ हर हाल में योजनाबद्ध तरीके से प्राप्त किया जाए। स्ट्रीट वेण्डर्स का रजिस्ट्रेशन व्यापक पैमाने पर सुनिश्चित करते हुए, उन्हें इस पैकेज के तहत लाभान्वित कराया जाए। इसके लिए उन्होंने प्रत्येक जनपद में कार्य योजना बनाए जाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री  ने शाहजहांपुर, बुलन्दशहर, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर, लखनऊ, गोरखपुर, प्रतापगढ़, कानपुर नगर, कानपुर देहात आदि जनपदों के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जानकारी प्राप्त की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।  इससे पूर्व, मुख्य सचिव  आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना  अवनीश कुमार अवस्थी एवं पुलिस महानिदेशक  एच0सी0 अवस्थी ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।