बलरामपुर अस्पताल की स्थिति बेहतर नहीं हुई तो महानगर कांग्रेस करेगी आंदोलन-मुकेश सिंह चौहान


बलरामपुर अस्पताल की स्थिति बदतर, तत्काल पूर्णकालिक निदेशक की हो नियुक्ति, लखनऊ में स्वास्थ्य व्यवस्था लचर, मरीजों को बेड तक मुनासिब नहीं।

लखनऊ,पूरे लखनऊ की स्वास्थ्य व्यवस्था लचर हो चुकी है स्थिति यह है कि मरीजों को अस्पताल में बेड तक मुनासिब नहीं है। बलरामपुर अस्पताल की स्थिति तो बदतर हो चुकी है लखनऊ महानगर कांग्रेस कमेटी ने जारी प्रेस नोट में कहा कि अगर तत्काल प्रभाव से बलरामपुर जिला अस्पताल की व्यवस्थाएं ठीक नहीं की जाती हैं तो कांग्रेस पार्टी आंदोलन के लिए बाध्य होगी।
जारी प्रेस बयान में महानगर अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान ने कहा कि बलरामपुर अस्पताल से लगातार  शिकायतें आ रही हैं। राजनैतिक दबाव के चलते बलरामपुर अस्पताल में पूर्णकालिक निदेशक की नियुक्ति नहीं हो रही है उन्होंने मांग की कि बलरामपुर अस्पताल में तत्काल पूर्णकालिक निदेशक के नियुक्ति की जाये।

चौहान ने कहा कि बलरामपुर जिला अस्पताल के निदेशक डॉ राजीव लोचन के खिलाफ आम जनमानस में बहुत आक्रोश है। लोगों का कहना है कि अपने राजनैतिक संबंधों के चलते डॉ राजीव लोचन पद पर बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि बलरामपुर में मरीजों को मूलभूत सुविधाएं तक मयस्सर नहीं है लेकिन जिला अस्पताल के निदेशक राजीव लोचन लगातार नवीनीकरण के नाम पर बलरामपुर अस्पताल में दीवारें तोड़ रहे हैं, टाइल्स लगवा रहे हैं। जबकि इलाज के नाम पर बलरामपुर अस्पताल में मरीजों को जगह तक नहीं मिल पा रही है।