बीए,बी एससी में निःशुल्क शिक्षा हेतु एडमिशन शुरू

अब्दुल जब्बार एडवोकेट

अयोध्या, भेलसर रुदौली विधायक राम चन्द्र यादव की मंशा के अनुरूप श्री कृष्णा आरटीएस यादव महाविद्यालय नंरौली व श्री कृष्णा आरटीएस कालेज ऑफ फार्मेसी नरौली रुदौली अयोध्या के सचिव व सामाजिक कार्यकर्ता आलोक चन्द्र यादव ने कोरोना महामारी के समय में निर्बलो की आर्थिक स्थिति को देखते हुए उनके बच्चों की इण्टर मीडिएट के पश्चात उनकी स्नातक की शिक्षा बाधित न हो इस पर विचार कर उन्होंने नि: शुल्क शिक्षा हेतु एडमिशन करने का निर्णय लिया है।इस निर्णय से निर्बलों के लिए स्नातक की शिक्षा का रास्ता खोला।

निर्णय के तहत श्री कृष्णा आरटीएस यादव महाविद्यालय नरौली रुदौली में अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति तथा आर्थिक रूप से निर्बल परिवार(किसी भी वर्ग)के अनाथ बच्चों को बीए,बी एससी में नि: शुल्क शिक्षा प्रदान की जाएगी तथा अन्य सभी जाति/वर्ग के बच्चों से सरकार द्वारा निर्धारित अनुमन्य शुल्क के लेकर शिक्षा प्रदान की जाएगी।इण्टर मीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके स्नातक की शिक्षा प्राप्त करने के लिए बी ए,बी एससी की पढ़ाई करने के इच्छुक बच्चे सोमवार 24 अगस्त 2020 से कालेज आकर अपना एडमिशन करा सकते हैं।

श्रीकृष्णा आर टी एस कालेज ऑफ फार्मेसी नरौली रुदौली अयोध्या में डी फार्मा(एलोपैथ)में समुचित शुल्क के साथ एडमिशन प्रारम्भ हो गया है।शुल्क को आसान किस्तों में जमा करने की ब्यवस्था दी गई है। आलोक चन्द्र यादव ने अपने निर्णय से श्री कृष्णा आरटीएस महाविद्यालय व श्री कृष्णा आर टी एस कालेज ऑफ फार्मेसी के स्टाफ के सदस्यों को अवगत कराते हुए कहा स्थानीय व क्षेत्रीय स्तर पर अभियान चलाकर डी फार्मा की शिक्षा के लिए प्रेरित करें जिससे कि स्थनीय व क्षेत्रीय बच्चे डी फार्मा की डिग्री ले कर सरकारी व गैर सरकारी हास्पीटल में कार्य करने के योग्य बनकर रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।स्वयं मेडिकल स्टोर खोल कर स्वरोजगार कर सकते हैं। प्राइवेट मेडिकल स्टोर पर भी रोजगार का अवसर प्राप्त कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि हमने जो निर्णय लिया है वह संस्था के संस्थापक रुदौली विधायक श्री राम चन्द्र यादव जी की मंशा के अनुरूप है तथा निर्णय में उनकी साकारात्मक सामाजिक सेवा भावना समाहित है।उनकी साकारात्मक सामाजिक सामाजिक सेवा भावना की सोच को सार्थक बनाने व उनके सपनों की बुनियाद को मजबूती प्रदान करने की हम सब की सामूहिक कोशिश होनी चाहिए।
स्टाफ के सदस्यों ने एक स्वर से निर्णय को सराहानीय व उचित बताया तथा कहा कि समय के अनुसार बहुत जरूरी है।

स्टाफ के सदस्य राजेश कुमार रावत ने कहा कि विधायक जी तो राजनीतिक कार्य क्षेत्र में भी निर्बलों का हमेशा ख्याल रखा है और उनकी बुनियादी सोच में निर्बलों का सहयोग करना प्राथमिकता में शामिल रहा है और आज भी है।संस्था के सचिव आलोक चन्द्र यादव ने जो निर्णय लिया बेशक विधायक जी की मंशा के अनुरूप है।अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति बच्चों के साथ साथ आर्थिक रूप से निर्बल अनाथ बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने में मदद मिलेगी।यह अति सराहनीय व सर्वाधिक महत्वपूर्ण निर्णय है।हम इस निर्णय का हृदय की गहराई से स्वागत करते हैं और संस्था के सचिव आलोक चन्द्रजी को धन्यवाद देते हैं।विधायक रुदौली श्री राम चन्द्र यादव जी का आभार व्यक्त करता हूं कि रुदौली विधानसभा क्षेत्र में उन्होंने ऐसी शिक्षण संस्था की संस्थापना की जिससे कोरोना महामारी के समय में अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति वर्ग तथा अन्य आर्थिक रूप से निर्बल परिवार के अनाथ बच्चों को स्नातक की निःशुल्क शिक्षा प्राप्त करने का अवसर प्राप्त होने जा रहा है