भाजपा का प्रदेश में नंगानाच और खुली गुंडागर्दी-अखिलेश यादव

185

राजेन्द्र चौधरी


लखनऊ। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा ने लोकतंत्र को भारी क्षति पहुंचाई है। भाजपा ने पहले जिला पंचायत अध्यक्ष और अब ब्लाक प्रमुख का चुनाव जीतने के लिए पूरे प्रदेश में नंगानाच और खुली गुंडागर्दी की है। जिला प्रशासन और पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ता की तरह काम किया। लोकतंत्र की हत्या में शामिल अधिकारियों की लिस्ट तैयार की जा रही है, समाजवादी पार्टी की सरकार बनते ही उन पर कार्यवाही होगी। समाजवादी पार्टी इस अत्याचार को भूलेगी नहीं।


श्री यादव यहां पार्टी कार्यालय में बड़ी संख्या में एकत्र कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग को जो भी काम करना था वह काम नहीं किया। चुनाव पर उसका नियंत्रण नहीं रहा। उन्होंने कहा अपने को अनुशासित पार्टी होने का दावा करने वाली भाजपा के लोग इतने नीचे स्तर पर उतर आए कि महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने में भी लोकलाज नहीं रही। उन्होंने महिलाओं की इज्जत को तार-तार करने का पाप किया है। पूर्व स्पीकर श्री माता प्रसाद पाण्डेय को अपमानित किया गया। सरकार बताए कि हर जगह गुण्डई की इतनी आजादी किसने दे रखी है?

अखिलेश यादव ने कहा कि लोकतंत्र में इतने अन्याय की कल्पना भी नहीं की जा सकती। भाजपा ने नोटबंदी करके काला धन के जरिए अर्थव्यवस्था को चैपट कर दिया है। भाजपा ने देश को बर्बाद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। उसके द्वारा दिखाये जाने वाले झूठे सपनों पर अब कोई भरोसा नहीं करेगा।


श्री यादव ने कहा कि इन चुनावों में भाजपा ने डी.एम.-एस.पी. का उपयोग अपने राजनीतिक स्वार्थ साधन में किया है। भाजपा का नकाब उतर चुका है। समाजवादी पार्टी के समर्थकों का हर प्रकार से उत्पीड़न किया जा रहा है। उन्हें फर्जी मुकदमों में फंसाया जा रहा है।

अखिलेश यादव ने कहा किसान, नौजवान, व्यापारी, गरीब सभी तो भाजपा को हराना चाहते हैं। भाजपा का विकास से कोई मतलब नहीं है। समाजवादी पार्टी ही विकास के लिए प्रतिबद्ध है। भाजपा नफरत का एजेण्डा चलाती है। यह स्पष्ट हो चुका है, प्रदेश की जनता समाजवादी पार्टी के साथ है। सन्2022 में भाजपा को उखाड़ने के लिए जनता संकल्पित है।