भातखण्डे संगीत संस्थान का होगा जीर्णोद्वार-मण्डलायुक्त


भातखण्डे संगीत संस्थान का कराया जायेगा जीर्णोद्वार,संगीत संस्थान को बनाया जायेगा स्मार्ट संगीत संस्थान.मण्डलायुक्त


लखनऊ, मण्डलायुक्त मुकेश कुमार मेश्राम ने आज भातखण्डे संगीत संस्थान सम विश्वविद्यालय कैसरबाग लखनऊ का निरीक्षण किया। इस अवसर पर नगर आयुक्त डा0 इन्द्रमणि त्रिपाठी सहित विश्व विद्यालय के प्रोफेसर व सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।
निरीक्षण के पश्चात मण्डलायुक्त ने संगीत संस्थान के प्रोफेसर व सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक कर निम्न निर्देश दिये।
संगीत की तीनों विधाओं गायनए वादन एवं नृत्य पर त्रैमासिक डिजिटल व प्रिन्टेड शोध पत्रिका प्रकाशित करायी जायें।
शैक्षणिक गुणवत्ता में वृद्धि हेतु साल भर की एकेडमिक गतिविधियों के कलेन्डर को विशेषज्ञता के साथ तैयार कर लागू कराया जाये।
अन्य देश.विदेश के प्रसिद्ध संगीत विश्वविद्यालयों के साथ एम0ओ0यू0 किया जाये जिसके अन्र्तगत स्टूडेन्ट व फैकेल्टी exchange प्रोग्राम हो संस्थान द्वारा वेबीनार व सेमिनार आयोजित किये जायें।
म्यूजिक थेरेपी ;संगीत चिकित्सा, पर के0जी0एम0यू0ध्एस0जी0पी0जी0आई0के साथ मिलकर शोध किया जायें।
युवाओं के मध्य भारतीय लोक संगीत, शास़्त्रीय संगीत की उपयोगिता, प्रासंगिकता व महत्वा के सम्बन्ध में कार्य किया जायें।
लुप्त होते हुए वाद्य यंत्रो, लोकसंगीत को संग्रहित किया जाये, इस विषय से जुड़े पुराने ग्रन्थों व वाद्य यंत्रों को लोगों से उपहार स्वरूप प्राप्त करते हुए उनके नाम का उल्लेख करते हुए म्यूजियम की स्थापना हेतु प्रस्ताव तैयार कराया जायें।
आल इण्डिया रेडियों, आकाशवाणी से अति प्राचीन संगीत को प्राप्त कर, संग्रहित कर उसको लोक प्रिय बनाने व आगे बढ़ाने का कार्य किया जाये।

सभी शिक्षक व स्टाफ नियमित संस्थान आये तथा अपना-अपना कार्य करें, टाइम टेबल बनाकर पाठ्यक्रम के अनुसार आनलाइन सभी कोर्स की पढ़ाई की व्यवस्था सुनिश्चित करायें।
संस्थान में कार्यरत नियमित व आउटसोर्स कर्मचारी  अनुशासित होकर अपना-अपना कार्य करे।बिना अवकाश स्वीकृत कराये कोई कर्मचारी अनुपस्थित होता है तो उसके विरूद्ध कार्यवाही की जाये।
    उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय में दो मुख्य शैक्षणिक बिल्डिंग है एक का निर्माण 1852 तथा दूसरी बिल्डिंग का निर्माण 1960 में हुआ था। उन्होंने कहा कि यह एक एतिहासिक बिल्डिंग है जिसके संरक्षण व सौन्दर्यीकरण कराये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि संस्थान में 1935 विद्यार्थी अध्ययनरत है।
उन्होंने बताया कि भातखण्डे संगीत संस्थान स्मार्ट सिटी के ए0बी0डी0 एरिया में स्थापित है। संगीत संस्थान को स्मार्ट सिटी से जीर्णोंद्वार कराकर मूलभूत सुविधाओं को विकसित कर बनाया जायेगा ।स्मार्ट संगीत संस्थानए जिसके अन्र्तगत निम्नलिखित कार्य कराये जाने के निर्देश दिये गये है।

  • संगीत संस्थान की दोनों बिल्डिंगों की मरम्मत व आवश्यकतानूसार उसको आर्किटेक्चर कंजरवेशन करना।
  • संगीत संस्थान की दोनों बिल्डिंगों पर फसाड लाइटिंग का कार्य।
  • संगीत संस्थान के परफोरमेंस हाल में स्मार्ट क्लास रूम की स्थापना।
  • संगीत संस्थान में सुविधाजनक और उपयोगी फर्नीचर की व्यवस्था।
  • संगीत संस्थान में स्मार्ट म्यूजिक व बुक्स लाइब्रेरी, रिकार्डिंग स्टूडीयो की स्थापना।
  • संगीत संस्थान में प्रदेश और देश भर के लुप्तप्रायः वाद्ययंत्रों व लोकसंगीत के पोशाक, साज सज्जा, महान संगीतज्ञों से जुड़े स्मृति की सामग्री सहित म्यूजियम की स्थापना।
  • संगीत संस्थान की गरिमा के अनुरूप फोटो तथा पेन्टिंग फिक्स कराने का कार्य।
  • संगीत संस्थान में आवश्यकतानुसार साइनेज बोर्ड की व्यवस्था।
  • शौचालयों की मरम्मत व आवश्यकतानुसार पेयजल तथा अन्य शौचालयों का निर्माण।  
  • संगीत संस्थान के कैम्पस में वृक्षारोपण व लैण्डस्केपिंग कराकर सौन्दर्यीकरण का कार्य।
  • संगीत संस्थान के क्लास रूमों में आवश्यक वाद्य यन्त्रों, दरी, मसनद, तख़्त आदि की व्यवस्था।