मैनपुरी का मतलब नेता जी और नेता जी का मतलब मैनपुरी-स्वामी प्रसाद मौर्य

207

समाजवादी पार्टी के नेता और विधान परिषद के सदस्य स्वामी प्रसाद मौर्य ने आज मैनपुरी में डिंपल यादव के लिए चुनाव प्रचार किया. इस दौरान उन्होंने ‘मुलायम सिंह यादव के सम्मान में, डिंपल यादव मैदान’ का नारा लगाया. इस दौरान मौर्य ने जनसभा में मौजूद लोगों से डिंपल यादव को जिताने की अपील की. चुनाव प्रचार करते हुए मौर्य ने कहा कि मैनपुरी का मतलब नेताजी और नेताजी का मतलब मैनपुरी है. उन्होंने सरकारी संपत्तियों के विनिवेशीकरण को लेकर बीजेपी की सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि मैनपुरी के उपचुनाव से ही बीजेपी के उल्टे दिनों की शुरुआत होगी.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि आज मैनपुरी लोकसभा सीट नेताजी के निधन की वजह से रिक्त हुई है. मैनपुरी सीट यहां के लोगों के सम्मान और स्वाभिमान से जुड़ी हुई है. उन्होंने कहा कि मैनपुरी का मतलब नेताजी और नेताजी का मतलब मैनपुरी होता है.

चुनावी जनसभाओं ने मौर्य ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सरकारी संपत्ति मोदी जी या योगी जी के पुरखों की संपत्ति नहीं है. उन्होंने कहा कि ये संपत्ति देश के खून पसीने से बनी हुई है. उन्होंने कहा कि मैनपुरी लोकसभा सीट पर हो रहा उपचुनाव जीतकर समाजवादी पार्टी बीजेपी के उल्टे दिन की शुरुआत करने जा रही है. उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार जनता की सरकार नहीं है, बल्कि वह ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह काम कर रही है.

मैनपुरी लोकसभा सीट पर उपचुनाव सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन की वजह से कराया जा रहा है. उनका 10 अक्तूबर को गुरुग्राम के एक अस्पताल में निधन हो गया था. इस उपचुनाव में सपा ने डिंपल यादव को अपना उम्मीदवार बनाया है. बीजेपी ने सपा के गढ़ मैनपुरी में डिंपल यादव को हराने के लिए रघुराज सिंह शाक्य को मैदान में उतारा है. वो भी मैनपुरी में मुलायम सिंह यादव के सहारे ही चुनाव मैदान में हैं. नामांकन भरने से पहले उन्होंने मुलायम सिंह यादव की समाधि पर जाकर शीश नवाया. मैनपुरी में मतदान पांच दिसंबर को कराया जाएगा. वहीं मतगणना आठ दिसंबर को कराई जाएगी.