विधायक की शिकायत के बाद उप मुख्यमंत्री ने की कार्यवाही

अब्दुल जब्बार एडवोकेट व अनिल कुमार मिश्रा

सर्विस रोड बनाने के नाम पर कार्यदायी संस्था सेतु निगम ने 92 लाख से अधिक की धनराशि निकाल ली,विधायक की शिकायत के बाद उप मुख्यमंत्री ने मामले को संज्ञान में ले की कार्यवाही।

अयोध्या, भेलसर भेलसर रूदौली 143 बी रेलवे क्रॉसिंग पर निर्माणाधीन ओवर ब्रिज के निर्माण में बड़े पैमाने पर वित्तीय अनियमितता उजागर हुई है।चार वर्ष से निर्माधीन रेलवे समपार 143 बी उपरिगामी सेतु की सर्विस लेन बने विना भुगतान किया गया है।कागजों में सर्विस रोड बनाने के नाम पर कार्यदायी संस्था सेतु निगम ने 92 लाख से अधिक की धनराशि निकाल ली।विधायक रामचंद्र यादव ने वित्तीय अनियमितता की शिकायत उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से की है।शिकायत के बाद डिप्टी सीएम ने मामले को संज्ञान में लिया और मुख्य परियोजना प्रबंधक मय उप परियोजना प्रबंधक से स्पस्टीकरण तलब है।

वर्ष 2017 में सर्विस लेन के लिए लगभग 500 मीटर खंडजा लगाया गया था। सर्विस रोड बनाने में कुल 92 लाख 26 हजार रुपए की धनराशि किस्तो में खर्च हर वर्ष समय समय पर निकल ली गई। जनप्रतिनिधियों से लेकर विभागीय अफसरो के निरीक्षण में इसकी भनक किसी को नही लगी।सेतु निगम के अभिलेखों के मुताबिक सर्विस लेन बनाने में वर्ष 2017-18 में 51 हजार,वर्ष 2018-19 में 11 लाख 13 हजार व वर्ष 2019-20 में जून 2019 में एक लाख 79 हजार,अगस्त 2019 में 48 लाख 20 हजार व दिसंबर 2019 में 30 लाख 63 हजार कुल 80 लाख 62 हजार रुपए निकाले गए। ओवरब्रिज निर्माण में गिट्टी व कोर्स सैंड का टेंडर लगभग एक करोड़ रुपए का किया गया।निविदा समाप्त होने के बाद पुनः टेंडर न करके आपूर्ति आदेश के माध्यम से सामग्री क्रय कर अभियंताओं पर ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने का भी आरोप है।

पूर्व डीपीएम विजेंद्र कुमार कहना है कि 92 लाख रुपए की धनराशि में से लगभग 60 लाख रुपए की धनराशि आईईवाल से संबधित है। मुख्य परियोजना प्रबंधक को लिखित में अवगत कराया गया है।डीपीएम विश्वजीत सिंह ने बताया कि जल्द ही आए हैं।विधायक की शिकायत की जांच कराई जाएगी।विधायक के शिकायत करने के बाद सीपीएम गेंदा लाल व डीपीएम विजेंद्र कुमार का तबादला गैर जनपद कर दिया गया है।सेतु निगम के सहायक अभियंता रिजवान अहमद व अवर अभियंता अमर सिंह पर गंभीर आरोप लगे हैं।

विधायक रामचंद्र यादव ने बताया की ओवरब्रिज की सर्विस लेन की धनराशि निकालने का की शिकायत उपमुख्यमंत्री से की थी।सर्विस लेन का निर्माण नहीं होने से आवागमन में आम जन को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था।बरसात में आवागमन में सर्विस लेन में जल भराव से आम जन को आवागमन में काफी दिक्कत थी।अपने सामने खड़े होकर 20 दिन पूर्व सर्विस लेन को आवागमन लाइक बनाने का कार्य कराया है।उन्होंने कहा सरकारी कार्य में हेराफेरी अनियमितता की उच्च स्तरीय जांच करा कर दोषी कर्मचारियों अधिकारियों और ठेकेदारों के विरुद्ध कार्रवाई कराएंगे।अब तक सीपीएम और बीपीएम का तबादला किया गया है।