शासन की योजना से शत प्रतिशत लाभान्वित कराये -जिलाधिकारी

जिलाधिकारी ने जिला स्वास्थ्य समिति के विभिन्न कार्यो की समीक्षा की,शासन की मंशानुसार समस्त कार्यक्रमों को संचालित किया तथा लक्ष्य के अनुरूप गर्भवती माताओं को शत प्रतिशत योजना का लाभ दिया जाये।

प्रतापगढ़, जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय के सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति ;शासी निकायद्ध की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने कोविड-19 के अन्तर्गत वित्तीय एवं भौतिक प्रगतिए जननी सुरक्षा योजनाए यू0पी0 हेल्थ डैस बोर्डए आर0सी0एच0 पोर्टलए आयुष्मान भारतए प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजनाए क्षय रोगए नियमित टीकाकरण एवं आशा योजना सहित अन्य बिन्दुओं पर चर्चा की गयी। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि डिजास्टर रिलीफ फण्ड 70 लाख के अन्तर्गत पूर्ण व्यय कर लिया गया हैए कोविड के अन्तर्गत अन्य व्यय कार्यक्रमवार नियमानुसार किये जा रहे है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत जिला कार्ययोजना 80.39 करोड़ के सापेक्ष अभी तक 12ण्99 करोड़ खर्च किये जा चुके है जो कुल बजट का 16 प्रतिशत है।

जननी सुरक्षा योजना के 10108 लाभार्थियों के सापेक्ष 9550 लाभार्थियों का भुगतान किया जा चुका है बकाया 6 प्रतिशत लाभार्थियों का भुगतान एक सप्ताह में किये जाने हेतु निर्देशित किया गया है। यू0पी0 हेल्थ डैस बोर्ड में जनपद की रैंक 31वीं है जिस पर मुख्य विकास अधिकारी द्वारा समीक्षा करते हुये सुधार की अपेक्षा की गयी। बैठक में आर0सी0एच0 पोर्टल में मानधाताए बाघरायए मंगरौरा की प्रगति कम होने पर अगली बैठक में विस्तृत विवरण एवं प्रगति के साथ प्रतिभाग करने हेतु जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत अभी तक 140387 गोल्डेन कार्ड बनाये जा चुके है तथा 3331 लाभार्थियों को इस योजना का लाभ दिया जा चुका है। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अन्तर्गत 50018 लाभार्थियों को योजना का लाभ दिया जा चुका है। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि लक्ष्य के अनुरूप शत प्रतिशत गर्भवती माताओं को योजना का लाभ प्रदान किया जाये। बैठक में बताया गया कि क्षय रोग वित्तीय वर्ष 2020.21 के अन्तर्गत 841 लाभार्थियों के सापेक्ष 837 लाभार्थियों को निःक्षय पोषण योजना में प्रति माह 500 रूपये प्रदान किया जा रहा है। औसत आशा भुगतान में राज्य औसत 3541 प्रति आशा के सापेक्ष जनपद का औसत 3589 प्रति आशा है।

जिलाधिकारी ने समस्त बिन्दुओं की गहन समीक्षा करते हुये मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि शासन की मंशानुसार समस्त कार्यक्रमों को संचालित किया जाये और स्वास्थ्य विभाग से सम्बन्धित योजनाओं का लाभ लाभार्थियों को दिया जाये इसमें किसी प्रकार की लापरवाही एवं शिथिलता न बरती जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेयए अपर जिलाधिकारी ;वि0ध्रा0द्ध शत्रोहन वैश्यए मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अरविन्द कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारीए स्वयं सेवी संगठन तथा समस्त अधीक्षकध्प्रभारी चिकित्साधिकारी उपस्थित रहे।