शासन के निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करें अधिकारी-मण्डलायुक्त

मण्डलायुक्त प्रयागराज ने कोविड-19 एवं संचारी रोग नियंत्रण, स्वच्छता, पेयजल आदि महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर अधिकारियों के साथ की समीक्षा,शासन के निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करें अधिकारी-मण्डलायुक्त प्रयागराज।

प्रतापगढ़, जनपद के नोडल अधिकारी/मण्डलायुक्त प्रयागराज आर रमेश कुमार ने आज एन0आई0सी0 में कोविड-19 एवं संचारी रोग निंत्रण, स्वच्छता, पेयजल आदि महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अरविन्द कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारियों के साथ समीक्षा की। बैठक में कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्था के सम्बन्ध में मण्डलायुक्त ने मुख्य चिकित्साधिकारी से जानकारी प्राप्त की तो बताया गया कि 05 कोविड अस्पतालों में 985 बेड स्थापित है, कोविड एल-1 हास्पिटल ट्रामा सेन्टर लालगंज में 07 व सेन्ट अन्थोनी इण्टर कालेज में 51 मरीज भर्ती है।

मण्डलायुक्त ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि कोविड चिकित्सालयों में भर्ती मरीजों को गुणवत्तायुक्त भोजन एवं साफ-सफाई की व्यवस्था बेहतर ढंग से सुनिश्चित की जाये। कोविड-19 की आर0टी0पी0सी0आर0 व ट्रू-नॉट मशीन से कराये गये टेस्ट एवं उनके परिणाम की स्थिति के सम्बन्ध में नोडल अधिकारी ने जानकारी प्राप्त की तो सीएमओ द्वारा बताया गया कि दिनांक 30 जुलाई तक आरटीपीसीआर के अन्तर्गत 17265 सैम्पल जांच हेतु भेजे गये थे जिसमें 13595 की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है और 3670 अप्राप्त है, जनपद के कुल 381 पाजिटिव मरीज पाये गये है जिसमें से 185 रिकवर्ड, 13 मृतक और 183 एक्टिव केस है। जनपद में ट्रू-नॉट मशीन की जांच में 871 निगेटिव और 22 पाजिटिव केस पाये गये है। मण्डलायुक्त ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि डोर-टू-डोर सर्वे व अधिक से अधिक लोगों की सैम्पलिंग कर जांच कार्य में तेजी लायी जाये तथा सैम्पलिंग करने वाले पैरा मेडिकल स्टाफ कोरोना वायरस से बचाव हेतु सुरक्षा उपकरण से सुसज्जित होकर ही कार्य करें।

नोडल अधिकारी ने नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड एवं संचारी रोग पर नियंत्रण हेतु किये गये कार्यो के सम्बन्ध में जानकारी ली तो बताया गया कि जनपद में 1263 सर्विलान्स टीमों द्वारा 23701 घरों में जाकर 118504 व्यक्तियों का सर्वेक्षण किया गया तथा 01 जुलाई से 31 जुलाई संचारी रोग अभियान का संचालन किया जा रहा है और दस्तक अभियान के अन्तर्गत आशा द्वारा घरों का भ्रमण कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। जनपद में नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई तथा सेनेटाइजेशन के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की तो जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा बताया गया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 4196 जल-जमाव वाले गड्ढों के भराई का कार्य, 6313 नाले-नालियों की सफाई, 5240 झाड़ियों की कटाई व साफ-सफाई और 1241 स्थलों पर एन्टीलार्वा का छिड़काव व 1241 ग्राम पंचायतों में फागिंग का कार्य कराया गया। इसी प्रकार नगर पालिका एवं नगर पंचायतों के सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में नगर पालिका एवं 08 नगर पंचायतों के अन्तर्गत कुल 124 वार्डो में विशेष सफाई अभियान चलाते हुये वार्डो में सफाई, नालियों में कीटनाशी का छिड़काव, सेनेटाइजेशन व फागिंग का कार्य कराया गया। 

स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था के सम्बन्ध में जिला पंचायत राज अधिकारी ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 54158 हैण्डपम्प अधिष्ठापित है जिसमें 52089 क्रियाशील है और 2069 हैण्डपम्पों के मरम्मत एवं रिबोर का कार्य चल रहा है। नगरीय निकायों के अन्तर्गत सम्बन्धित अधिकारी द्वारा बताया गया कि कुल 4105 हैण्डपम्प पूर्व में और वित्तीय वर्ष 2020-21 में 211 नये हैण्डपम्पों के सापेक्ष 105 अधिष्ठापित किये गये है कुल 4210 अधिष्ठापित हैण्डपम्पों के सापेक्ष 3775 क्रियाशील है, शेष के अधिष्ठापन/मरम्मत की कार्यवाही चल रही है। नगरीय क्षेत्र में 03 ओवरहेड टैंक निर्मित है जिसमें 01 क्रियाशील है, 02 अक्रियाशील है जिसकी मरम्मत हेतु कार्यवाही प्रचलित है। जनपद में 150 पाइप्ड पेयजल योजनायें पूर्ण एवं संचालित है। वर्तमान 29 परियोजनायें स्वीकृत/निर्माणाधीन जिसमें से 09 परियोजनाओं का कार्य प्रगति पर है एवं 20 परियोजनाओं का कार्य धनराशि के अभाव में बन्द है। इसी प्रकार मण्डलायुक्त ने कोविड-19 से सम्बन्धित कन्टेनमेन्ट जोन और कान्टेक्ट ट्रेसिंग के कार्य के सम्बन्ध में जानकारी ली तो मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में 54 कन्टेनमेन्ट जोन मौजूद है जहां पर कान्टेक्ट ट्रेसिंग करते हुये सैम्पलिंग एवं अन्य गतिविधियॉ संचालित की जा रही है, कोविड-19 के बढ़ते मरीजों की संख्या के दृष्टिगत नगर पालिका क्षेत्र को वृहद कन्टेनमेन्ट जोन घोषित किया गया है।

कोविड-19 संक्रमण के सम्बन्ध में शासन के निर्देशों, एपीडेमिक एक्ट के प्राविधानों के अन्तर्गत की गयी कार्यवाही के स्थिति के सम्बन्ध में बताया गया कि एपीडेमिक एक्ट के अन्तर्गत अब तक 550 व्यक्तियों के विरूद्ध 91 मुकदमें पंजीकृत हुये है, अभियान के दौरान अब तक सार्वजनिक स्थान पर मॉस्क, गमछा, रूमाल, दुपट्टा न लगाने वाले 12802 व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुये रूपये 1331750 के अर्थदण्ड की वसूली की गयी है। मण्डलायुक्त प्रयागराज ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि कोविड-19, संचारी रोग नियंत्रण, स्वच्छता एवं पेयजल आदि के सम्बन्ध में जिन अधिकारियों को जो दायित्व सौपा गया है उसका अक्षरशः अनुपालन करें और इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं उदासीनता कदापि न बरती जाये। शासन द्वारा दिये गये निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करायें। बैठक में जिलाधिकारी ने नोडल अधिकारी को आश्वस्त करते हुये कहा कि जिन अधिकारियों को जो भी निर्देश दिये गये है उसका सम्यक निर्वहन करेगें।