श्रीराम जन्मभूमि का भूमि पूजन, 36 परम्पराओ के संत महानुभावो ने भाग लिया

अयोध्या, श्री राम जन्म भूमि के भूमि पूजन व शिलान्यास के अवसर पर भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आगमन अयोध्या में हुआ हुआ। प्रधानमंत्री सर्वप्रथम हनुमानगढ़ी का दर्शन पूजन किया गया तद्पश्चात श्री रामलला का दर्शन पूजन एवं वहाॅ पर परिजात का पौधा भी लगाया गया, अगले चरण में श्री रामलला की जन्मस्थान/गर्भगृह में वेद मंत्रो के साथ भूमि पूजन किया गया। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के सर संघ चालक डा0 मोहन राव भागवत, उ0प्र0 के राज्यपाल आनन्दी वेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ, तथा अशोक सिंघल के भतीजे आदि उपस्थित रहे।

प्रधानमंत्री अगले चरण में मंच से राष्ट्र को श्री राम मंदिर के सम्बन्ध में सम्बोधित किया गया तथा मुख्य रूप से कहा कि यह मंदिर राष्ट्रीय गौरव का प्रतीक एवं राष्ट्रीय एकता को मजबूत करेगा। इस अवसर पर प्रधानमंत्री जी का स्वागत उ0प्र0 के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, श्री रामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्ट के महा सचिव चम्पतराय, अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास जी, मुख्यमंत्री जी आदि द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डा0 मोहनराव भागवत ने किया। कार्यक्रम की सफलता पर श्री राम जन्म भूमि के सदस्यो, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश अवस्थी, मण्डलायुक्त एमपी अग्रवाल, पुलिस महानिदेशक एसएन सावंत, पुलिस महा निरीक्षक डा0 संजीव गुप्ता, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, सूचना निदेशक शिशिर कुमार, उप पुलिस महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार, आदि द्वारा मंडल एव के अधिकारियो के अलावा बाहर से आये हुए एवं स्थानीय स्तर के समस्त मीडिया कर्मियो, जनपद वासियो, जन प्रतिनिधियो आदि के संक्रिय सहयोग की एवं काय्रक्रम सफल बनाने के लिए विशेष रूप से जिलाधिकारी ने सभी के प्रति आभार प्रकट किया है।

सूचना निदेशक एवं उप निदेश, सूचना ने दूरदर्शन एवं एएनआई द्वारा कार्यक्रम के सजीव प्रसारण के लिए धन्वाद दिया है तथा कहा कि आम लोगो के पास तक पहुॅचाने और घर बैठे सभी को दिखाने में तथा मीडिया कर्मियो को कवरेज में सहयोग करने के लिए सराहनीय कार्य किया है इसके लिए आप बधाई के पात्र है तथा अब आम जनमानस में जै श्री राम नारा के साथ जै सिया राम भी प्रधानमंत्री जी के नारे लगाने के बाद लोकप्रिय हो गया। उन्होंने सभी मीडिया कर्मियो को हार्दिक आभार दिया है। इस कार्यक्रम में ट्रस्ट द्वारा 36 परम्पराओ के संत महानुभावो ने भाग लिया तथा इस अवसर पर श्री राम लला के फोटो पर आधारित डाक टिकट भी जारी किया गया।