सचिव अनिल कुमार के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही के निर्देश

लखनऊ, जिला पंचायत राज अधिकारी लखनऊ निरीश चन्द्र साहू ने बताया कि जनपद  लखनऊ के विकास खंड बी0के0टी0 की ग्राम पंचायत इंदारा में कूड़ेदानों के लगवाए जाने तथा इंडिया मार्का हैंडपंप रिबोर के संबंध में शिकायत प्राप्त हुई थी जिसकी जांच हेतु निरीश चंद्र साहू जिला पंचायत राज अधिकारीए उपायुक्त जिला उद्योग केंद्र लखनऊ तथा जिला युवा कल्याण अधिकारी लखनऊ को मुख्य विकास अधिकारी महोदय द्वारा नामित किया गया था जिसके उपरांत संयुक्त जांच टीम द्वारा दिनांक 03 जुलाई 2020 को उक्त प्रकरण की जांच की गई जांच के दौरान पाया गया कि कूड़ेदानों की स्थापना में वित्तीय नियमों/टेंडर प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया है ग्राम पंचायत इंदारा विकास खंड बी0के0टी0 में स्थापित प्रति कूड़ेदान हेतु स्थापना सहित 9000.00 का भुगतान किया गया है।
 उन्होंने बताया कि कूड़ेदान का वास्तविक बाजार मूल्य पता करने पर यह पाया गया कि उक्त कूड़ेदान का मूल्य जी0एस0टी0 सहित कूड़ेदान रुपए 6608.00 है तथा ग्राम पंचायत इंदारा द्वारा स्थापित कराए गए कूड़ेदान का स्थापना सहित अधिकतम अनुमानित मूल्य रुपए 7000.00 प्रति कूड़ेदान है।
       उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि ग्राम पंचायत इंदारा विकास खंड बी0के0टी0 द्वारा कूड़ेदान की स्थापना में टेंडर प्रक्रिया/वित्तीय नियमों का पालन नहीं किया गया है तथा निर्धारित क्रय प्रक्रिया के स्थान पर मनमाने तरीके से कूड़ेदान का क्रय वास्तविक मूल्य से लगभग रुपए 2000.00 अधिक रुपए पर किया गया है इस प्रकार ग्राम पंचायत द्वारा 20 कूड़ेदानो के क्रय में 20×200= 40000 (चालीस हजार) रुपए का अधिक भुगतान कर शासकीय धनराशि का विवरण किया गया है जिसके उपरांत ग्राम पंचायत इंदारा विकास खंड बी0के0टी0 में तैनात सचिव अनिल कुमार के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए गए तथा एवं ग्राम प्रधान अरविंद कुमार सिंह ग्राम पंचायत इंदारा के विरुद्ध पंचायती राज अधिनियम की धारा 95-(1)(जी) के अंतर्गत कारण बताओ नोटिस दिए जाने के निर्देश दिए गये।