सीसीटीवी के माध्यम से जिलाधिकारी ने कोविड-19 संक्रमित भर्ती मरीजो का जाना हाल

अयोध्या, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने राजर्षि दशरथ स्वशासी राज चिकित्सा महाविद्यालय ध्कोविड एल-2 हास्पिटल दर्शननगर अयोध्या में कोविड-19 से संक्रमित भर्ती मरीजो को उपलब्ध कराई जा रही चिकित्सीय सुविधाओ, भोजन, साफ-सफाई आदि का कन्ट्रोल रूम से सीसीटीवी के माध्यम से किया अवलोकन तथा बैठक कर उपलब्ध चिकित्सीय सुविधाओ, भविष्य की तैयारियो की जानकारी ली तथा गुणवत्तापूर्ण भोजन, बेहतर चिकित्सीय सुविधाओ उपलब्ध कराने व नियमित साफ-सफाई कराने के दिये निर्देश।

जनपद न्यायाधीश के अनुसार पब्लिक कोरोना रिर्पोट पाॅजटिव पाये जाने के दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी अयोध्या द्वारा कचेहरी परिसर, वार परिसर को दिनांक 25, 26 अगस्त 2020 (दो दिन) के लिए अस्थायी रूप से सील करते हुए उक्त परिसरो में प्रवेश व निकास तथा वाहनो का संचालन (अपरिहार्य स्थिति को छोड़कर) प्रतिबन्धित किया गया है। विस्तृत विवरण संलग्न है।

जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ घनश्याम सिंह के साथ राजर्षि दशरथ स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय, दर्शन नगर, अयोध्या का किया निरीक्षण।

जिलाधिकारी ने मेडिकल कालेज दर्शननगर कोविड एल-2 हास्पिटल का किया निरीक्षण इस दौरान जिलाधिकारी ने कन्ट्रोल रूम से सीसीटीवी के माध्यम से विगत दिनो व वर्तमान में विभिन्न वार्डो में भर्ती मरीजो को उपलब्ध कराई जा रही चिकित्सीय सुविधाओ या डाक्टरो के राउण्ड के समय भोजन व साफ-सफाई के समय आदि जायजा लिया। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक मेडिकल कालेज को गाइड लाइन के अनुसार डाक्टरो के राउण्ड लगाने, भोजन उपलब्ध कराने व साफ-सफाई कराने के निर्देश दिये तथा कन्ट्रोल रूम के कर्मियो को तीनो शिफ्टों का अलग-अलग रजिस्टर बनाकर नियंत्रण कक्ष में तैनात कर्मियों को डाक्टरो के विभिन्न वार्डों में भ्रमण के समय, भोजन उपलब्ध कराने व साफ-सफाई करने के समय आदि के विवरण को नियमित नोट करने के निर्देश दिये। उन्होंने भ्रमण के समय डाक्टरर्स व अन्य स्टाप को पहचान हेतु पीछ अपनी आईडी प्रदर्शित करने के निर्देश दिए जिससे नियंत्रण कक्ष में तैनात कर्मी को यह स्पष्ट हो सके कि कौन सा स्टार्ट भ्रमण पर है।

जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 घनश्याम सिंह, प्रसिंपल मेडिकल कालेज डा0 विजय कुमार, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 अरविन्द कुमार सिंह, डिप्टी कलेक्टर लव कुमार सिंह, आरएनएन के प्रोजेक्ट मैनेजर व अन्य सम्बन्धित चिकित्सको के साथ बैठक की। बैठक में चिकित्सालय में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी देते हुए प्राचार्य  डॉक्टर  विजय कुमार ने बताया कि चिकित्सालय में डी टाइप के कुल 297 तथा बी टाइप के कुल 240 आक्सीजन सिलेन्डर उपलब्ध हैं। उन्होंने आगे बताया कि वर्तमान में 10 आईसीयू बेड सहित कुल 200 आइसोलेशन बेड, 30 एचडीयू (हाई डिपेंडेंट यूनिट), 07 बाईपाप उपलब्ध है। उनहोंने बताया कि वर्तमान में कुल 53 वेंटीलेटर उपलब्ध है जिसमें से 21 वेंटीलेटर को इंस्टाल किया जा चुका है जबकि 32 वेंटीलेटर के इंस्टॉलेशन की प्रक्रिया चल रही है जिलाधिकारी ने यथाशीघ्र इन्हें भी इंस्टॉल कर देने के निर्देश दिए है। और आगे बताया कि गम्भीर रोगियो हेतु महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा द्वारा 48 रेमडेसीविर इन्जेक्शन प्राप्त हो चुका है तथा 240 का आर्डर दिया गया है।

जिलाधिकारी ने चिकित्सालय में भर्ती सीएमएस जिला महिला चिकित्साधिकारी डा0 एसके शुक्ला के साथ-साथ विभिन्न वार्डो में भर्ती मरीजों से फोन पर वार्ता कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी व उन्हें उपलब्ध हो रही चिकित्सीय सुविधाओं, डॉ0 के वार्डों में भ्रमण  के समय, भोजन की गुणवत्ता, साफ-सफाई व च्यवनप्राश व औषधियो की उपलब्धा की भी जानकारी ली। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने प्राचार्य को सभी शौचालयों के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगवाने का कार्य तत्काल पूर्ण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान कर रहे हैं सभी चिकित्सकों व स्टॉफ को चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान करते समय पूरी सावधानी बरतने के निर्देश दिए।