सोशल मीडिया ग्रुप पर नजर की प्रशासन

अयोध्या, सोशल मीडिया ग्रुप के आड़ में कतिपय व्यक्तियो एवं फर्जी पत्रकार संगठन ग्रुप बनाकर व्हाट्सअप समाचार, फर्जी चैनल, पोर्टल आनलाइन समाचार, यू-टूयूब पर पोस्ट कर दोषपूर्ण समाचार प्रसारित कराने के साथ असंवैधानिक व अमर्यादित समाचार पोस्ट किया जा रहा है। ऐसी शिकायत मण्डल एवं जिला प्रशासन को सम्भ्रान्त व्यक्तियो द्वारा उपलब्ध कराई गई है कि ऐसे समाचार पोस्ट कर समाज को तोड़ने, भ्रम फैलाने, व्यक्तिगत आक्षेप लगाकर अनुचित आर्थिक लाभ प्राप्त करने का प्रयास हो रहा है जो पूर्णतः गलत है। ऐसे व्यक्तियो के विरूद्ध/सूचनाओ के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही हेतु पुलिस विभाग एवं सूचना विभाग द्वारा प्रभावी कार्यवाही की जा रही है इसके क्रम में उप निदेशक सूचना अयोध्या मण्डल ने भी जाॅच प्रारम्भ किया है तथा ऐसे लोगो स्पष्ट अपील है कि संविधान एवं कानून के परिधि में ही सोशल या किसी मीडिया पर अपनी सूचना प्रेषित करें भारतीय संविधान का अनुच्छेद-19 किसी को अनियंत्रित स्वतंत्रता नही प्रदान करता इसलिए सभी लोग इसका पालन करें एवं अयोध्या की मर्यादा का भी ख्याल रखे जिनका भारत सरकार या राज्य सरकार द्वारा सोशल मीडिया चलाने का अधिकार पत्र है वो जिला प्रशासन एवं सूचना विभाग को उपलब्ध कराये अभी तक सोशल मीडिया का किसी भी प्रकार का रजिस्ट्रेशन नहीं किया गया है जिनको नियमित रूप से समीक्षा किया जा रहा हे यदि कोई दोष पूर्ण पाया जाता हे तो उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता अधिनियम एवं सूचना प्रौद्यगिकी अधिनियम-2000, केविल टेलीविजन नेटवर्क अधिनियम-1995 के तहत नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी जिसकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी संबंधित व्यक्ति या व्यक्ति समूह की होगी तथा सूचना विभाग में आजकल विभिन्न समाचार पत्रो एवं न्यूज चैनलो के संबंधित पत्रो का अधिकार पत्र प्रस्तुत किया जा रहा है उसकी भी गोपनीय जाॅच के बाद ही मीडिया सूची में शामिल किया जायेगा अन्यथा इसमें भी संबंधित व्यक्ति की ही जिम्मेदारी होगी।