स्वच्छता कार्यक्रम प्रधानमंत्री की प्राथमिकता-राम चन्द्र यादव

विधायक ने करीमपुर गांव में कई परियोजनाओं का किया भूमिपूजन एवं शिलान्यास स्वच्छता कार्यक्रम प्रधानमंत्री की पहली प्राथमिकता।

अब्दुल जब्बार,विकास वीर यादव

अयोध्या,भेलसर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद स्वच्छता को पहली प्राथमिकता प्रदान करते हुए कहा था कि देवालय से पहले शौचालय जरुरी है।यह बातें सोमवार को रुदौली विधायक श्री रामचंद्र यादव ने विधानसभा क्षेत्र रुदौली के करीमपुर में ग्राम पंचायत से बनने वाली कई परियोजनाओं के भूमिपूजन व शिलान्यास समारोह में उपस्थित लोगो से संवाद करते हुए कही उन्होंने कहा की मोदी जी ने देवालय से पहले शौचालय के क्रम में प्रधानमंत्री स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की।जिसके लिए प्रत्येक गाँव के हर घर को शौचालय निर्माण हेतु 12000/-रुपये की प्रोत्साहन राशि ग्राम पंचायतों के माध्यम से उपलब्ध करायी गयी और आज प्रत्येक गाँव में घर – घर शौचालय की व्यवस्था उपलब्ध हुई है। जिससे खुले में शौच करने को मजबूर लोगों को मुक्ति मिली है।दूसरे चरण में उन्होंने घर से बाहर जाने पर शौच की आवश्यकता पड़ने पर किसी को खुले में शौच के लिए भटकना न पड़े जिसके लिए गाँव व कस्बो में जगह जगह सामुदायिक शौचालय के निर्माण का अभियान चलाया है।

राम चन्द्र यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने अपने दुसरे कार्यकाल में“देवालय से पहले शौचालय’’के तहत शौचालय निर्माण के लक्ष्य की प्राप्ति के साथ देवालय निर्माण के अभियान के क्रम में उन्होने सदियों से चली आ रही अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर निर्माण हेतु उन्होंने 5 अगस्त को अयोध्या आकर भूमिपूजन कर मंदिर निर्माण की आधारशिला रखी।भव्य श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण होने से सनातन संस्कृति व धार्मिक आस्था बलवती होने के साथ राष्ट्रवादी भावना को बढ़ावा मिलेगा।विधायक श्री यादव ने मुख्य अतिथि के रूप में ग्राम प्रधान अलगू प्रसाद लोधी की अध्यक्षता में मनरेगा चतुर्थ वित्त पन्द्रहवां वित्त योजना के अंतर्गत सामुदायिक शौचालय, आंगनबाड़ी केंद्र व पंचायत भवन के निर्माण हेतु चिन्हित भूमि का भूमिपूजन एवं शिलान्यास किया।इस मौके पर खण्ड विकास अधिकारी रुदौली,ग्राम पंचायत अधिकारी,कुलदीप सोनकर,सचिन कसौधन,मित्रसेन यादव,रघुनाथ लोधी,चन्रिायका चौहान,राम सुचित लोधी,राम सनेही लोधी,राम केदारदास उर्फ़ जोगी बाबा,घिर्राऊ प्रसाद आदि उपस्थित रहे।