हर घर स्वच्छ जल अभियान को लगा रहे पलीता

47

हर घर जल योजना के तहत मानकों को ताक पर रख कर किया जा रहा कार्य।

मवई/अयोध्या। सूबे की योगी सरकार हर घर स्वच्छ जल पहुंचाने व प्रदेश की जनता को सुगमता से जल उपलब्ध कराने हेतू ग्राम पंचायतों मे करोड़ों खर्च कर रही है।परन्तु ठेकेदार व ग्राम प्रधानों की मिलीभगत से मानकों को दर किनार कर दोयम दर्जे के ईंट व मसाले से पानी टंकी की बाउंड्री वाल का निर्माण कर सरकार की महत्वाकांक्षी योजना को पलीता लगाने मे कोई कोर कसर नही छोड रहे हैं।मामला किसी एक ग्राम पंचायत का नही बल्कि मवई विकास खण्ड क्षेत्र की अमूमन ग्राम पंचायतों का यही हस्र है।ताजा मामला डिलवल ग्राम पंचायत का है जहां पर बटैय्या गांव मे निर्माणधीन बाउंड्री वाल मे धडल्ले से पीले ईंट का प्रयोग किया जा रहा है।

ठेकेदार के हौसले इतने बुलंद है कि जब संवाददाता ने इस सबंध मे फोन पर जानकारी ली तो ठेकेदार ने बताया कि हम दोयम दर्जे का ही ईंट प्रयोग करते हैं।इसमें हमे जो सामग्री मिलती है उसी से निर्माण करवाते है।आखिर इस मनबढ ठेकेदार को इतनी सह कहाँ से मिलती हो जो दबंगई की मिशाल पेश करते हुए मनमानी तरीके से निर्माण कार्य करवा रहा है।जबकि इससे ग्रामीणों को बराबर खतरा बना हुआ कि उस दीवाल के आस पास से गुजरने वाले राहगीर ग्रामीण चपेट मे आ सकते है।और ऐसी मानकवीहीन सामग्री से निर्मित दीवाल कभी भी भरभराकर गिर सकती है।फिलहाल देखना यह है कि इस दबंग ठेकेदार के ऊपर कोई कार्यवाही होती है या मामले को ठंढे बस्ते मे डाल दिया जाता है।