17 वर्षीय प्रगनानंदा ने एक बार फिर वर्ल्ड चैंपियन मेग्नस कार्लसन को हराया

भारतीय शतरंज खिलाड़ी प्रगनानंदा (17 वर्षीय) ने एक बार फिर वर्ल्ड चैंपियन मेग्नस कार्लसन को हरा दिया. अमेरिका के मियामी में चल रहे एफटीएक्स क्रिप्टो कप में प्रगनानंदा ने यह जीत दर्ज की. यह मुकाबला बेहद रोमांचक रहा. टाईब्रेक तक गए इस मैच में कार्लसन जीत दर्ज करने के करीब खड़े थे लेकिन आखिरी में वह गलती कर बैठे और मुकाबला हार गए.

इस बड़े मुकाबले के आखिरी पल देखने लायक थे. यहां जैसे ही प्रगनानंदा ने अपनी आखिरी चाल चली तो कार्लसन हैरानी में पड़ गए. उन्हें यकीन नहीं हो रहा था कि वह फिर से प्रगनानंदा से हार गए हैं. उन्होंने इसके बाद धीरे से अपने हेडफोन उतारे और प्रगनानंदा से हाथ मिलकार चल दिए.

भारतीय शतरंज खिलाड़ी ने वर्ल्ड चैंपियन को तो शिकस्त दी लेकिन टोटल स्कोर के आधार पर वह इस टूर्नामेंट को जीत नहीं सके. वह दूसरे पायदान पर रहे. यहां मेग्नस कार्लसन ही विजेता बने. प्रगनानंदा ने इस टूर्नामेंट की शुरुआत दमदार अंदाज में की थी. उन्होंने लगातार 4 मैच जीते थे. हालांकि उन्हें पांचवें और छठे राउंड में शिकस्त झेलना पड़ी थी.

प्रगनानंदा को पहली बार सुर्खियां इस साल फरवरी में मिली थी. उन्होंने तब एयरथिंग मास्टर्स रेपिड चेस टूर्नामेंट में वर्ल्ड नंबर-1 मेग्नस कार्ससन को शिकस्त दी थी. इसके बाद मई में चेसेबल मास्टर्स ऑनलाइन रेपिड चेस टूर्नामेंट में भी उन्होंने कार्लसन को हरा दिया था.