6 से 8 को फरवरी राजभवन प्रांगण में पुष्प प्रदर्शनी का आयोजन


मुख्य सचिव की अध्यक्षता में प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी-2021 के आयोजन के सम्बन्ध में बैठक आयोजित।6 से 8 फरवरी,2021 तक राजभवन प्रांगण में आयोजित किया जायेगा प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी का आयोजन,प्रदर्शनी के आयोजन में कोविड प्रोटोकाॅल एवं इस सम्बन्ध में निर्गत दिशा-निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाये,प्रदर्शनी स्थल पर की जाये कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना। 


लखनऊ – मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी-2021 के आयोजन के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न हुई, जिसमें अपर मुख्य सचिव राज्यपाल महेश कुमार गुप्ता, अपर मुख्य सचिव उद्यान मनोज सिंह, आवास आयुक्त अजय चैहान, मण्डलायुक्त लखनऊ रंजन कुमार, नगर आयुक्त लखनऊ अजय द्विवेदी सहित प्रादेशिक फल शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी समिति के सदस्यों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि प्रदर्शनी के आयोजन में कोविड प्रोटोकाॅल एवं इस सम्बन्ध में निर्गत दिशा-निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी में कोविड हेल्प डेस्क भी स्थापित किया जाए तथा पर्याप्त मात्रा में सैनेटाइजर, थर्मल स्कैनर आदि की भी व्यवस्था रहे। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी के आयोजन में सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन कराया जाये तथा तदनुसार आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं।

मुख्य सचिव ने कहा कि उद्यान विभाग किसी वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित करे जो कि सभी सम्बन्धित विभागों से सम्पर्क व समन्वय बनाये ताकि सभी कार्य समय से हो सकें।  इससे पूर्व बैठक का संचालन करते हुए अपर मुख्य सचिव उद्यान मनोज सिंह ने बताया कि वर्ष,2021 में प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी का आयोजन 06 फरवरी,2021 से 08 फरवरी,2021 तक राजभवन प्रांगण में किया जायेगा।

प्रदर्शनी का शुभारंभ 06 फरवरी,2021 को तथा पुरस्कार वितरण एवं समापन समारोह 08 फरवरी,2021 को किया जायेगा। प्रदर्शनी के उद्घाटन से पूर्व 05 फरवरी,2021 को गमले में लगे फूल, शाकभाजी, शोभाकार पौधों, औषधीय पौधों तथा फल, शाकभाजी, खाद्य प्र्रसंस्कृत पदार्थ, कलात्मक पुष्प सज्जा, कट फ्लावर आदि की प्रविष्टियों को लगाने व जजिंग का कार्य किया जायेगा।

उन्होंने बताया प्रदर्शनी में गृह वाटिका एवं शोभाकार उद्यानों की प्रतियोगिता हेतु प्रविष्टि शुल्क तथा प्रदर्शनी स्थल में प्रवेश शुल्क में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है तथा गत वर्ष की भांति व्यक्तिगत वर्ग गृह वाटिका के लिए रुपये 50/- व सरकारी, अर्द्धसरकारी, सस्थाओं एवं पब्लिक पार्क के लिए रुपये 100/- तथा उद्यान वर्ग के लिए क्रमशः 100/- एवं 200/-यथावत रखा गया है। प्रदर्शनी में प्रवेश शुल्क गत वर्ष की भांति सभी स्कूली बच्चों के लिए निःशुल्क तथा अन्य के लिए रुपये 5/- प्रति व्यक्ति प्रस्तावित किया गया है।

प्रदर्शनी में लगने वाले व्यावसायिक स्टालों के लिए शुल्क भी गतवर्ष का ही प्रस्तावित किया गया है। इसी प्रकार राजकीय संस्थाओं/विभागों को गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी निःशुल्क स्टाॅल दिया जाना प्रस्तावित है। फूड एवं कामर्शियल जोन में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को निःशुल्क स्टाल उपलब्ध कराया जाना प्रस्तावित है। प्रदर्शनी में आने वाले विभिन्न प्रदर्शों की प्रविष्टि शुल्क गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी रुपये 5/- प्रति प्रविष्टि रखा जाना प्रस्तावित है।

इसके अलावा प्रदर्शनी स्थल पर सेना एवं पीएसी के बैण्ड की व्यवस्था, सुरक्षा हेतु पुलिस की व्यवस्था, स्वच्छता के लिए कूड़ादान एवं पर्याप्त संख्या में टाॅयलेट्स आदि की व्यवस्था तथा स्वच्छ पाश्चुराइज पेयजल की व्यवस्था सम्बन्धित विभागों एवं संस्थानों के द्वारा की जायेगी। सूचना विभाग द्वारा प्रदर्शनी के आयोजन का व्यापक प्रचार-प्रसार प्रिन्ट एवं इलेक्ट्राॅनिक मीडिया तथा होर्डिंग के माध्यम से किया जायेगा।  इससे पूर्व प्रजेन्टेशन के माध्यम से प्रदर्शनी के आयोजन के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की गयी।