स्वस्थ्य शरीर में ही स्वस्थ्य मस्तिष्क का विकास होता- नीरज कुमार त्रिपाठी

न्यायालय परिसर एवं जिला कारागार में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया,स्वस्थ्य शरीर में ही स्वस्थ्य मस्तिष्क का विकास होता।

प्रतापगढ़। माननीय उ0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के निर्देशानुसार एवं माननीय जनपद न्यायाधीश संजय शंकर पाण्डेय के आदेशानुसार जनपद न्यायालय परिसर एवं जिला कारागार में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। इस अवसर पर जनपद न्यायालय परिसर में प्रभारी जनपद न्यायाधीश सीताराम की अध्यक्षता में न्यायिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने योगा अभ्यास किया। इस अवसर पर प्रभारी जनपद न्यायाधीश ने कहा कि आज अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पूरे विश्व में मनाया जा रहा है। उन्होने कार्यक्रम में सहभागिता करने के लिये सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। इसी क्रम में जिला कारागार में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नीरज कुमार त्रिपाठी की अध्यक्षता में कारागार में निरूद्ध बन्दियों एवं जेल अधिकारियों, कर्मचारियों ने योग शिविर में सहभागिता की। योग गुरू प्रवीण सिंह ने कार्यक्रम में शामिल लोगों को विभिन्न प्रकार के प्राणायाम व योग कराया। इस अवसर पर सचिव ने कहा कि स्वस्थ्य शरीर में ही स्वस्थ्य मस्तिष्क का विकास होता है। स्वस्थ्य रहने के लिये प्रत्येक व्यक्ति को योगाभ्यास नियमित समय निकालकर करना चाहिये। उन्होने कहा कि जब हम सब स्वस्थ्य रहेगें तो देश भी प्रगति की ओर जायेगा। इस अवसर पर प्रभारी जेल अधीक्षक/जेलर डा0 आर0पी0 चौधरी ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में उपजेलर अवधेश प्रसाद राय, पैनल अधिवक्ता विश्वनाथ प्रसाद त्रिपाठी, रूप नारायण सरोज, पी0एल0वी0 अमन त्रिपाठी आदि योग शिविर में शामिल रहे।