गंगा बैराज पर गोआ बीच जैसा रोमांच

कानपुर। शनिवार शाम गंगा बैराज पर स्थित बोट क्लब पर गंगा की लहरों के बीच गोवा जैसा रोमांच नजर आया। विभिन्न प्रदेश से आए 56 खिलाड़ी और प्रशिक्षक यहां पर होने वाले नौकायन व जल क्रीडाओं का परीक्षण किया।

2011 में बोट क्लब बनाने की अवधारणा पर चर्चा शुरू हुई थी। 2014 में इसका प्रस्ताव तत्कालीन कमिश्नर ने तैयार कराया। 2015 में केडीए बोर्ड से 13.50 करोड़ देने की मंजूरी दी गई। 2015 में ही सिंचाई विभाग ने इसका निर्माण शुरू कराया। 2017 में गंगा बैराज के पास बोट क्लब बनकर तैयार हुआ। 2018 में बोट क्लब तक आम लोगों के पहुंचने का पाथ-वे बना। 2021 में 2.67 करोड़ की लागत से मोटर बोट शो पीस खरीदी गईं।

मनोरंजन के लिए बोट्स-
सेल बोट्स-इंटरप्राइजेज क्लास – 04
विंड सरफर – 02
व्हाइट वायर कयाक वन – 04
व्हाइट वायर कयाक टू-04
स्कींग बोर्ड- 02
बनाना बोट – 01
ड्रैगन बोट – 01, 12 लोगों के लिए
पैंटून बोट – 01, विशिष्ट अतिथियों के लिए, 10 लोग आएंगे
पैंटून वाटर स्कूटर – 02

जलक्रीड़ा के लिए-
कयाक बोट्स-
कयाक वन – 04, लंबाई 520 सेंमी, विवरण : सिंगल पैडल बोट
कयाक टू – 04, लंबाई 650 सेंमी, विवरण : डबल पैडल बोट
कयाक फोर – 04, 1100 सेंटीमीटर
कनोइंग बोट्स-
कनोए वन – 04, 520 सेटीमीटर
कनोए टू – 04, 650 सेंटीमीटर
कनोए फोर – 04, 900 सेंटीमीटर
रोइंग बोट्स –
सिंगल स्कल – 04, 26 फुट
डबल स्कल – 04, 32 फुट
पेयर – 04, 32 फुट
फोर – 04, 42 फुट
जलक्रीड़ा संचालन के लिए-
मोटर बोट – 01, 30 वीएचपी
मोटर बोट – 01, 60 वीएचपी
प्लोटिंग जेटी – 02, 1600 सेंमी.
लाइफ जैकेट – 75
वायरलेस सेट – 03
फस्ट एड बॉक्स – आवश्यकतानुसार
जिगजैग इंटरलॉकिंग डिजाइन फ्लोटिंग वाल्स – 150
रोप- 500 मीटर