अग्निपथ योजना की अग्नि परीछा

अग्निपथ योजना का यूपी में कई जगह हुआ विरोध।

अजय सिंह

लखनऊ। सेना में भर्ती की केंद्र सरकार की नई योजना ‘अग्निपथ’ के विरोध कल बिहार से शुरू हुआ प्रदर्शनों का दौर कई सूबों तक पहुंच गया है। गुरुग्राम में छात्रों ने अग्निपथ योजना के विरोध में दिल्ली-जयपुर हाईवे जाम कर दिया है। ट्रेनों को फूंका गया। ट्रैक को नुकसान पहुंचाया गया। रेलवे संपत्ति को भी तोड़ा गया। कई यात्री ट्रेनों के भी शीशे तोड़े गए। नावादा में तो बीजेपी ऑफिस में ही आग लगा दी। वहीं यूपी के भी 10 से ज्‍यादा जिलों में प्रदर्शन हुआ है। युवाओं के प्रदर्शन से जुड़ी पल-पल की अपडेट्स के लिए बने रहिए लाइव हिन्‍दुस्‍तान के साथ।केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर गुरुवार को हुआ विरोध प्रदर्शन अब थमने लगा है। आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद में तो दोपहर से पहले ही विरोध प्रदर्शन खत्म हो गया। इन जिलों में हालात अब सामान्य हो गए हैं। वहीं उन्नाव-फतेहपुर में भी हंगामा दोपहर से पहले ही खत्म हो गया।

अलीगढ़ में अग्निपथ योजना को लेकर विरोध प्रदर्शन कर तीन युवकों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। जीटी रोड पर प्रदर्शन करने वाले युवा पुलिस के लाठीचार्ज के बाद वापस लौट गए हैं। पुलिस हिरासत में लिए लड़कों से पूछताछ कर रही है।

सैन्य बलों में चार साल के लिए भर्ती की केंद्र की ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ यूपी के बुलंदशहर और बलिया जिलों में बृहस्पतिवार को युवाओं ने प्रदर्शन किया। बलिया में युवाओं के प्रदर्शन के कारण वाराणसी छपरा रेल प्रखंड पर दिल्ली से जयनगर जा रही स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एक्सप्रेस समेत अन्य ट्रेन प्रभावित हुई। स्थानीय लोगों के अनुसार, बुलंदशहर के खुर्जा इलाके और शहरी क्षेत्र में युवाओं के समूह एकत्र हुए और ‘अग्निपथ’ योजना को वापस लेने के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

देवरिया में भी अग्निवीरों की भर्ती को लेकर युवाओं का आक्रोश सामने आया है। गुरुवार को जिला मुख्यालय के सुभाष चौक पर और तरकुलवा में युवाओं ने प्रदर्शन किया। युवाओं ने गढ़रामपुर में करीब एक घंटे तक देवरिया-कसया मार्ग पर जाम लगाए रखा।

अग्निपथ योजना के खिलाफ गोरखपुर में युवाओं ने पैदल मार्च निकाला। इस दौरान उनके हाथों में तख्तियां थीं जिनपर लिखा था- ‘टीओडी वापस लो।’

अग्निपथ योजना के खिलाफ आंदोलित छात्रों से सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने किसी के बहकावे में न आने की अपील की है। सीएम ने एक ट्वीट में लिखा कि ‘अग्निपथ’ योजना आपके जीवन को नए आयाम प्रदान करने के साथ ही भविष्‍य को स्‍वर्णिम आधार भी देगी। आप किसी के बहकावे में न आएं। मां भारती की सेवा के लिए संकल्‍पित हमारे ‘अग्निवीर’ राष्‍ट्र की अमूल्‍य निधि होंगे और यूपी सरकार अग्निवीरों को पुलिस और अन्‍य सेवाओं में वरीयता देगी।

सेना में भर्ती के नए प्रारूप के विरोध में बिहार में उग्र प्रदर्शन के बीच कई ट्रेनों का आवागमन प्रभावित है। इसमें वाराणसी होकर जाने वाली 2 ट्रेनें एहतियात के तौर पर रखी गई है। बरौनी गोंदिया एक्सप्रेस छपरा स्टेशन पर और दिल्ली जाने वाली लिच्छवी एक्सप्रेस को भटनी स्टेशन पर रोक कर रखा गया है। उधर इस ट्रेन से यात्रा करने वाले वाराणसी के स्टेशन पर इंतजार कर रहे हैं। उग्र प्रदर्शन को लेकर उत्तर रेलवे के वाराणसी स्टेशन तथा पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मंडल से आरपीएफ और जीआरपी को हाई अलर्ट किया गया है।

मेरठ और उन्‍नाव में भी ‘अग्निपथ’ के खिलाफ युवाओं ने जमकर प्रदर्शन किया। उन्‍नाव के मरहला चौराहे पर हाथ में तख्‍ती और पोस्‍टर लेकर निकले युवाओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पुलिस युवाओं को कभी समझाती-बुझाती तो कभी सख्‍ती दिखाती रही।

आगरा और अलीगढ़ में प्रदर्शनकारी युवाओं ने कुछ बसों में तोड़फोड़ की। बुलंदशहर और फिरोजाबाद में युवाओं को खदेड़ने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। फिरोजाबाद में कुछ युवाओं को हिरासत में लिया गया है।

बरेली में चौकी चौराहा पहुंचे युवाओं ने जमकर प्रदर्शन किया। उन्‍होंने वहां सड़क जाम कर दी। वे सेना में सेवा की अवधि 4 साल किए जाने के खिलाफ आंदोलित हैं। उनका कहना है कि इस योजना से न उन्‍हें फायदा होगा न देश को।