मेडिकल कॉलेज के सभी निर्माण कार्य पूरी गुणवत्ता व समयबद्धता के साथ पूर्ण किये जाएं: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री का जनपद बिजनौर भ्रमण,मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित महात्मा विदुर कलेक्ट्रेट सभागार में उद्यमियों/व्यापारियों से संवाद किया। निर्माणाधीन महात्मा विदुर राजकीय मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया। निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज के गर्ल्स एवं ब्वॉयज हॉस्टल का निरीक्षण किया, कॉलेज के ले-आउट प्लान, साइट प्लान व डिजाइन का अवलोकन किया। मुख्यमंत्री ने मेडिकल कॉलेज में भगवान श्री गणेश की पूजा-अर्चना की। पी0डब्ल्यू0डी0 निरीक्षण भवन में पौधरोपण किया। उद्यमियों व व्यापारियों की समस्याओं का गुणवत्तापरक निस्तारण कराना प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल। प्रदेश सरकार ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा देने में पूर्ण सहयोग कर रही। मुख्यमंत्री ने जनपद में उद्योग, निर्यात तथा जैविक कृषि को बढ़ावा देने, काष्ठकला तथा ओ0डी0ओ0पी0 को प्रोत्साहित करने के लिए उद्यमियों की सराहना की। उद्यमियों द्वारा जनपद में तीन सी0एफ0सी0 स्थापित करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया गया। मेडिकल कॉलेज के सभी निर्माण कार्य पूरी गुणवत्ता व समयबद्धता के साथ पूर्ण किये जाएं।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद बिजनौर का भ्रमण किया। इस अवसर पर उन्होंने नवनिर्मित महात्मा विदुर कलेक्ट्रेट सभागार में उद्यमियों/व्यापारियों से संवाद, निर्माणाधीन महात्मा विदुर राजकीय मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण एवं पी0डब्ल्यू0डी0 निरीक्षण भवन में पौधरोपण किया। कलेक्ट्रेट सभागार में उद्यमियों/व्यापारियों से संवाद के दौरान कहा कि उद्यमियों व व्यापारियों की समस्याओं का गुणवत्तापरक निस्तारण कराना प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं में है। प्रदेश सरकार ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा देने में पूर्ण सहयोग कर रही है। प्रदेश के युवाओं को बेहतर शिक्षा व माहौल मिले, इसके लिये प्रयास किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। युवा रोजगार पाने के साथ-साथ रोजगार देने वाले भी बन रहे हैं। विभिन्न लाभार्थीपरक जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्रों तक पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने जनपद में उद्योग, निर्यात तथा जैविक कृषि को बढ़ावा देने, काष्ठकला तथा एक जनपद एक उत्पाद योजना (ओ0डी0ओ0पी0) को प्रोत्साहित करने के लिए उद्यमियों की सराहना की।


संवाद के दौरान जनपद में गुड़ उद्योग, क्रेशर एवं पर्यावरण से सम्बन्धित मुद्दों पर चर्चा की गई। साथ ही, उद्यमियों द्वारा नगीना कताई मिल के स्थान पर वृहद औद्योगिक आस्थान स्थापित करने का अनुरोध किया गया। मुख्यमंत्री जी ने शीघ्र ही सभी मुद्दों के समाधान करने का आश्वासन दिया। नगीना के उद्यमियों द्वारा जनपद में तीन सी0एफ0सी0 स्थापित करने के लिए मुख्यमंत्री जी का आभार व्यक्त किया गया। मुख्यमंत्री जी द्वारा एक जनपद एक उत्पाद योजना को बढ़ावा देने हेतु निरन्तर प्रयास करते रहने के लिए उद्यमियों को प्रोत्साहित किया गया, जिस पर उद्यमियों ने उनके प्रति आभार व्यक्त किया।इसके पश्चात, मुख्यमंत्री जी ने जनपद बिजनौर में निर्माणाधीन महात्मा विदुर राजकीय मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया। उन्हांेने निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज के गर्ल्स एवं ब्वॉयज हॉस्टल का भी निरीक्षण किया। कॉलेज के ले-आउट प्लान, साइट प्लान व डिजाइन का अवलोकन किया। उन्होंने मेडिकल कॉलेज आगमन पर भगवान श्री गणेश की पूजा-अर्चना की।

प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन में पौधरोपण अवश्य करना चाहिये,वृक्षारोपण का आमजन की दैनिक दिनचर्या व जीवन में बड़ा महत्व


जनपद में 20.71 एकड़ क्षेत्रफल में 281.52 करोड़ रुपये की लागत से मेडिकल कॉलेज का निर्माण किया जा रहा है। जिला अस्पताल बिजनौर में 17.52 एकड़ क्षेत्रफल में 200 बेड का अस्पताल बनाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त, 48 बेड की धर्मशाला भी बनायी जा रही है। जनपद के जिला अस्पताल मंे पहले से ही 300 बेड का अस्पताल संचालित है। नया अस्पताल बन जाने से वह 500 बेड का हो जायेगा। मेडिकल कॉलेज के सभी निर्माण कार्य पूरी गुणवत्ता व समयबद्धता के साथ पूर्ण किये जाएं। अगले सत्र से यहां कक्षाएं प्रारम्भ की जाएंगी। उन्होंने मेडिकल कॉलेज परिसर में महात्मा विदुर की प्रतिमा स्थापित किए जाने की बात कही। निर्माणाधीन कार्य के थर्ड पार्टी इन्सपेक्शन (निरीक्षण) के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि आई0आई0टी0, रूड़की द्वारा इसका निरीक्षण किया गया है।


मुख्यमंत्री ने जनपद बिजनौर में पी0डब्ल्यू0डी0 निरीक्षण भवन में पौधरोपण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन में पौधरोपण अवश्य करना चाहिये। वृक्ष पर्यावरण संतुलन में सहायक हैं। वृक्ष को धरती का आभूषण कहा जाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में रिकॉर्ड वृक्षारोपण कराया गया है। वृक्षारोपण में जनसहभागिता आवश्यक है। वृक्षारोपण का आमजन की दैनिक दिनचर्या व जीवन में बड़ा महत्व है। सभी अपनी जिम्मेदारी को समझें तथा जहां भी संभव हो वहां वृक्ष लगायंे और उनकी रक्षा भी करें। उन्होंने कहा कि जब तक जंगल, वन व नदी संरक्षित रहेंगे, तब तक हमारी संततियां भी संरक्षित रहेंगी। इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण व शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं उद्योगपति उपस्थित थे।