खिलाड़ियों की नियुक्ति देश सेवा की भावना का सम्मान

166
खिलाड़ियों की नियुक्ति देश सेवा की भावना का सम्मान
खिलाड़ियों की नियुक्ति देश सेवा की भावना का सम्मान

सरकारी सेवा में आकर बंद न करें प्रैक्टिस, पुलिस टीम का हिस्सा बनकर बेहतरीन प्रदर्शन के लिए रहें तैयार। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुशल खिलाड़ी कोटे में चयनित 233 आरक्षियों को वितरित किया नियुक्ति पत्र।उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों के साथ-साथ देश के कई अन्य राज्यों के खिलाड़ियों को भी सीएम ने दिया नियुक्ति पत्र। योगी ने कहा- दूसरे राज्यों के खिलाड़ियों को नियुक्ति देना उनकी देश सेवा की भावना का सम्मान। सीएम ने यूपी पुलिस बल में सम्मिलित खिलाड़ियों से की अपील, जब तक सामर्थ्य है खिलाड़ी और कोच के रूप में दें योगदान। यूपी पुलिस ने बदला परसेप्शन, देश में कहीं भी कानून व्यवस्था की समस्या होती है तो लोग कहते हैं कि यूपी पुलिस को बुला लीजिए। खिलाड़ियों की नियुक्ति देश सेवा की भावना का सम्मान

खेलकूद की गतिविधियां एक खिलाड़ी के लिए उसकी रचनात्मकता का प्रतीक होती है। खिलाड़ी अपने परिश्रम और पुरुषार्थ से सकारात्मक ऊर्जा और आत्मनिर्भरता के माध्यम से समाज में कुछ कर गुजरने की तमन्ना रखता है, लेकिन जैसे ही उसे सरकारी सेवा में आने का अवसर मिलता है वो खिलाड़ी अक्सर प्रैक्टिस बंद कर देते हैं। आप सबको उत्तर प्रदेश पुलिस टीम का हिस्सा बनकर बेहतरीन प्रदर्शन के लिए तैयार रहना है। यह बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लोकभवन के सभागार में उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड के माध्यम से कुशल खिलाड़ी कोटे में चयनित 233 आरक्षियों को नियुक्ति पत्र वितरित करते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि जिस ईमानदारी और पारदर्शी तरीके से आपका चयन हुआ है, आपसे भी राज्य सरकार को इसी ईमानदारी की उम्मीद है। अपनी प्रैक्टिस को निरंतर बनाए रखते हुए जब तक सामर्थ्य है उत्तर प्रदेश पुलिस के लिए, राज्य सरकार के लिए खेलिए। जब आपको लगेगा कि अब इससे अलग होना है तो फिर उत्तर प्रदेश पुलिस बल में उस संबंधित खेल के कोच के रूप में युवा खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए तत्पर रहने के लिए कार्य करना होगा। जीवन के हर क्षेत्र में शोध के कुछ अवसर आते हैं। नवाचार और शोध पर हमें निरंतर प्रयास करना चाहिए, ताकि हम अपने खिलाड़ियों को अपडेट कर सकें।

6 वर्ष में पूरी पारदर्शिता से पुलिस बल में की गईं भर्तियां


सीएम योगी ने कहा कि पिछले 6 वर्ष में उत्तर प्रदेश पुलिस बल में भर्ती की प्रक्रिया को पारदर्शी तरीके से बढ़ाने का कार्य हुआ है। पहले हर भर्ती पर प्रश्न उठते थे, चयन प्रक्रिया पर प्रश्न खड़े होते थे। विगत 6 वर्ष के अंदर प्रदेश में 1.54 लाख से अधिक पुलिस कार्मिकों की भर्ती प्रक्रिया संपन्न हो चुकी है। इसके अलावा 2492 मृतक आश्रितों के पदों की भर्ती प्रक्रिया पूर्ण पर उनका भी समायोजन किया गया है। प्रदेश के अंदर एक लाख 29 हजार से अधिक पुलिस कार्मिकों को समयबद्ध तरीके से प्रोन्नति देने का भी कार्य हुआ है। वर्तमान में उत्तर प्रदेश पुलिस बल में 62, 400 से अधिक पदों पर भर्ती प्रक्रिया प्रचलित है। पुलिस बल में खिलाड़ियों की जो कमी थी, उसे भी दूर किया जा रहा है। इससे पहले 8 जुलाई को भी हमने 227 खिलाड़ियों को नियुक्ति पत्र वितरित किए थे। उसमें भी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी थे। आज जो नियुक्ति पत्र दिए गए हैं, उसमें 154 पुरुष और 79 महिलाएं उत्तर प्रदेश पुलिस बल का हिस्सा बन रही हैं।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने बदला है प्रदेश के प्रति लोगों का परसेप्शन


योगी ने कहा कि प्रदेश की पुलिस ने आज देश में उत्तर प्रदेश के परसेप्शन को बदलने का काम किया है। आज देश में कहीं भी कानून व्यवस्था की समस्या खड़ी होती है तो लोग कहते हैं कि उत्तर प्रदेश की पुलिस को बुला लीजिए। आम लोगों के मन में एक विश्वास पैदा हुआ है। हर तबके के मन में सुरक्षा का वातावरण बना है। पर्व और त्योहार शांतिपूर्ण ढंग से मनाए जा रहे हैं। सभी कार्यक्रम सकुशल संपन्न हो रहे हैं। प्रदेश के अंदर बड़े से बड़ा निवेश भी आ रहा है। आपने हाल ही में रिजर्व बैंक की रिपोर्ट देखी होगी। देश के अंदर सबसे अधिक निवेश करवाने वाले राज्य के रूप में उत्तर प्रदेश सबसे आगे है। आज उत्तर प्रदेश सबसे अधिक टूरिस्ट्स को आकर्षित कर रहा है। 31 करोड़ टूरिस्ट्स एक वर्ष में उत्तर प्रदेश में आए हैं। ये सब दिखाता है कि बदलाव आया है। उत्तर प्रदेश पुलिस बल ने ये बदलाव लाने में सफलता प्राप्त की है तो इससे राज्य सरकार, नौजवानों की छवि भी बदली है। आप जैसे खिलाड़ी भी जब प्रदेश पुलिस बल का हिस्सा बनेंगे और यूपी पुलिस के लिए पदक झटकेंगे तो यह उत्तर प्रदेश की छवि को और निखार लाने में मददगार होगी। खिलाड़ियों की नियुक्ति देश सेवा की भावना का सम्मान