21 अप्रैल को जनपदों में ‘अप्रेन्टिसशिप मेला’ का आयोजन

शिक्षुता प्रशिक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रदेश के अधिकाधिक युवाओं को जोड़ने के क्रम में 21 अप्रैल, 2022 को समस्त जनपदों में ‘अप्रेन्टिसशिप मेला’ आयोजित किए जाने का निर्णय।‘अप्रेन्टिसशिप मेला’ प्रत्येक जनपद के नोडल राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित किया जाएगा।अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 तथा निर्यात प्रोत्साहन एवं प्रमुख सचिव व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास ने समस्त मण्डलायुक्तों/जिलाधिकारियोंको अप्रेन्टिसशिप मेले के सफल आयोजन के लिए दिशा-निर्देश दिए।मेले की जनपदवार प्रगति को प्रत्येक 02 घण्टे के पश्चात निदेशालय में गठित पी0एम0यू0 द्वारा तैयार की गई ऑनलाइन व्यवस्था पर अद्यतन किया जाएगा।समस्त उपायुक्त, जिला उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र द्वारा पंजीकृतअधिष्ठानों में शिशिक्षु रिक्तियों को भी आगणित कराते हुए उन्हें पोर्टल www.apprenticeshipindia.gov.in पर प्रदर्शित कराया जाना सुनिश्चित करेंगे।सम्पूर्ण प्रदेश में एकरूपता बनाए रखने के क्रम में मेले कासमय प्रातः 10ः30 से सांय 3ः30 बजे तक निर्धारित।


लखनऊ। राज्य सरकार द्वारा शिक्षुता प्रशिक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रदेश के अधिकाधिक युवाओं को जोड़ने के क्रम में 21 अप्रैल, 2022 को समस्त जनपदों में ‘अप्रेन्टिसशिप मेला’ आयोजित किए जाने का निर्णय लिया गया है। ‘अप्रेन्टिसशिप मेला’ प्रत्येक जनपद के नोडल राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित किया जाएगा।अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 तथा निर्यात प्रोत्साहन एवं प्रमुख सचिव व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास द्वारा संयुक्त रूप से निर्गत एक शासनादेश के माध्यम से प्रदेश के समस्त मण्डलायुक्तों/जिलाधिकारियों को अपने-अपने जनपद में 21 अप्रैल, 2022 को अप्रेन्टिसशिप मेले का सफल आयोजन सुनिश्चित कराते हुए यथा-आवश्यक कार्यवाहियां करने के सम्बन्ध में दिशा-निर्देश दिए गए हैं।


शासनादेश के अनुसार शिक्षुता प्रशिक्षण के माध्यम से युवाओं को उद्योगों/अधिष्ठानों तथा एम0एस0एम0ई0 में व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान कराने के लिए भारत सरकार द्वारा शिक्षु अधिनियम, 1961 लागू किया गया है। उद्योगों/अधिष्ठानों तथा एम0एस0एम0ई0 के प्रोत्साहन हेतु भारत सरकार द्वारा वर्ष 2016 से राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन योजना (एन0ए0पी0एस0) तथा प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना (सी0एम0ए0पी0एस0) प्रारम्भ की गई है। शिक्षुता प्रशिक्षण के क्रियान्वयन हेतु शासनादेश दिनाँक 28 जुलाई, 2020 तथा शासनादेश दिनाँक 22 मार्च, 2021 द्वारा मण्डलायुक्त/जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समिति गठित की गई है, जिसमें जनपद के नोडल प्रधानाचार्य, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान तथा उपायुक्त, जिला उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र संयुक्त रूप से सदस्य सचिव व सह सदस्य सचिव हैं।

शासनादेश में 21 अप्रैल, 2022 को प्रस्तावित ’अप्रेन्टिसशिप मेला’ से पूर्व यह अपेक्षा की गई है कि आगामी सप्ताह में समिति की बैठक आहूत कर मेले के सफल आयोजन हेतु आवश्यक तैयारियों को पूर्ण कर लिया जाए। साथ ही, मेले के प्रचार-प्रसार हेतु आवश्यक कार्यवाहियों को सुनिश्चित किया जाए। मेले की तैयारियों का नियमित रूप से अनुश्रवण किया जाए। मेला से पूर्व, जनपद स्तर पर आयोजित की जाने वाली बैठकों में औद्योगिक विकास विभाग के अधिकारियों को भी आमंत्रित किया जाए, जिससे उनसे सम्बन्धित औद्योगिक इकाइयों, प्राधिकरणों व अन्य अधिष्ठानों में अभ्यर्थियों को अधिकाधिक संख्या में शिक्षुता प्रशिक्षण हेतु योजित कराया जा सके। ‘अप्रेन्टिसशिप मेला’ के सम्बन्ध में यह भी निर्देशित किया गया है कि अधिष्ठानों तथा अभ्यर्थियों का शिक्षुता प्रशिक्षण के राष्ट्रीय पोर्टल पर पंजीकरण तत्काल प्रभाव से प्रारम्भ किया जाए तथा मेले की तिथि से पूर्व समस्त पंजीकृत अधिष्ठानों में शिशिक्षुओं की रिक्तियों को पोर्टल पर नियमित रूप से प्रदर्शित कराए जाने की कार्यवाही को सुनिश्चित किया जाए।

‘अप्रेन्टिसशिप मेला’ के सफल आयोजन हेतु समस्त सम्बन्धित विभागों व उनके अधिकारियों हेतु दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इसके अन्तर्गत एम0एस0एम0ई0 विभाग द्वारा सम्पादित किए जाने वाले कार्यों में एम0एस0एम0ई0 विभाग के मण्डलीय अधिकारी अपने विभाग के प्रतिनिधि के रूप में अप्रेन्टिसशिप मेले के सफल आयोजन हेतु समस्त जनपदों के उपायुक्त, जिला उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र को आवश्यक दिशा-निर्देश तथा यथासम्भव सहयोग प्रदान करेंगे। जनपदों में संचालित ऐसे समस्त निजी उद्योग/अधिष्ठान तथा एम0एस0एम0ई0, जो शिक्षुता प्रशिक्षण प्रदान किये जाने की श्रेणी में आच्छादित हैं तथा उनका शिक्षुता प्रशिक्षण के क्रियान्वयन से सम्बन्धित राष्ट्रीय पोर्टल पर पंजीकरण नहीं है। ऐसे समस्त उद्योग/अधिष्ठान तथा एम0एस0एम0ई0 का राष्ट्रीय पोर्टल पर पंजीकरण प्रत्येक जनपद के उपायुक्त, जिला उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र द्वारा सुनिश्चित कराया जाएगा। इस कार्य में औद्योगिक संगठनों से यथा सम्भव सहयोग प्राप्त किया जाएगा।

एम0एस0एम0ई0 विभाग के समस्त उपायुक्त, जिला उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र द्वारा पंजीकृत अधिष्ठानों में शिशिक्षु रिक्तियों को भी आगणित कराते हुए उन्हें पोर्टल ूूwww.apprenticeshipindia.gov.in पर प्रदर्शित कराया जाना सुनिश्चित करेंगे। समस्त जनपदों के उपायुक्त, जिला उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र अपने जनपद में संचालित हो रहे समस्त निजी उद्योग/अधिष्ठान की सूची अपने जनपद के नोडल प्रधानाचार्य, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान को उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करेंगे। समस्त जनपदों के उपायुक्त, जिला उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र अपने जनपद में संचालित हो रहे समस्त निजी उद्योगों/अधिष्ठानों के साथ बैठक करते हुए शिशिक्षुओं की रिक्तियों को आगणित कराकर पोर्टल पर प्रदर्शित कराया जाना सुनिश्चित करेंगे। इस कार्य में जनपदों के गैर-नोडल प्रधानाचार्य, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान यथासम्भव सहायता प्रदान करेंगे। ऐसे समस्त उपायुक्त, जिला उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र, जो कि अपने जनपद के डी0सी0, उ0प्र0 कौशल विकास मिशन के रुप में कार्य सम्पादित कर रहे हैं, के द्वारा उ0प्र0 कौशल विकास मिशन से प्रमाणित अभ्यर्थियों को अधिकाधिक संख्या में शिक्षुता प्रशिक्षण प्रदान कराये जाने की कार्यवाही की जाएगी।मेले के दिवस प्रतिभाग करने वाले अधिष्ठानों द्वारा प्रदर्शित की गयीं रिक्तियों तथा प्रतिभाग करने वाले अभ्यर्थियों की मैच-मेकिंग कराई जाएगी अर्थात किसी भी प्रदर्शित/उपलब्ध रिक्ति के सापेक्ष योग्य अभ्यर्थी का चयन किया जाएगा। अप्रेन्टिसशिप मेले के पश्चात मण्डल के समस्त जनपदों नोडल प्रधानाचार्य, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान द्वारा प्रेषित की गई रिपोर्ट को समेकित कर अन्तिम मण्डलीय रिपोर्ट निदेशालय को दिनाँक 25 अप्रैल, 2022 तक प्रेषित किया जाना सुनिश्चित किया जाएगा। मेले की जनपदवार प्रगति के विवरण को प्रत्येक 02 घण्टे के पश्चात निदेशालय में गठित पी0एम0यू0 द्वारा तैयार की गई ऑनलाइन व्यवस्था पर अद्यतन किया जाएगा।

नोडल प्रधानाचार्य, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान द्वारा सम्पादित किए जाने वाले कार्यों के अन्तर्गत समस्त नोडल प्रधानाचार्य, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान द्वारा अपने-अपने जनपद में अप्रेन्टिसशिप मेले के नोडल अधिकारी के रूप में कार्य सम्पादित किया जाएगा। सम्पूर्ण प्रदेश में एकरूपता बनाए रखने के क्रम में मेले का समय प्रातः 10ः30 से सांय 3ः30 बजे तक निर्धारित किया जाना उचित रहेगा। समस्त नोडल प्रधानाचार्य, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान अपने-अपने जनपद के ऐसे समस्त एन0टी0सी0 प्रमाण-पत्र धारक अभ्यर्थी, जिनका शिक्षुता प्रशिक्षण के क्रियान्वयन से सम्बन्धित राष्ट्रीय पोर्टल पर पंजीकरण नहीं है, उनका पोर्टल पर दिनांक 15 अप्रैल, 2022 तक पंजीकरण अवश्य पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित करेंगे।