10 करोड़ लोगों को वैक्सीन देने का दावा मिथ्या-अशोक सिंह

मुख्यमंत्री द्वारा 10 करोड़ लोगों को वैक्सीन देने का दावा मिथ्या।डबल इंजन की सरकार संकट काल मे खुद एक दूसरे की मिथ्या प्रशंसा कर मना रहे उत्सव।सीएचसी,पीएचसी में ताले डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ की जबरदस्त कमी फिर कैसे लगी 10 करोड़ वैक्सीन डोज।सरकार की लापरवाही का कुफल कोरोना काल मे लाखां लोग चले गए मौत के मुह में।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के संयोजक व अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य अशोक सिंह ने आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दस करोड़ प्रदेशवासियों को वैक्सीन डोज देने के लिये अपनी पीठ स्वयं थपथपाते हुए प्रधानमंत्री की प्रशंसा करते हुए ट्वीट करना जनता को पुनः गुमराह करने का घृणित कृत्य बताते हुए कहा कि सरकार स्वयं जब मान रही कि प्रदेश के 4600 सीएचसी व पीएचसी के सापेक्ष कुल 4100 सौ में वैक्सिनेशन की सुविधा उपलब्ध होने व कुल 123 निजी नर्सिंग होम में सुविधा उपलब्ध होने की बात के बाद यह दावे तब किये जा रहे जब जिला चिकित्सालय, सीएचसी व पीएचसी में भारी संख्या में डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ का अभाव है और मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री कोरोना काल मे सरकार की गम्भीर लापरवाही के चलते हुई प्रदेश में लाखों लोगों की मौत के बावजूद एक दूसरे की तारीफ कर मृतकों के परिजनों के जख्मो पर नमक छिड़कनें के झूठे दावे करने की होड़ लगाए है।


कांग्रेस मीडिया विभाग के संयोजक श्री सिंह ने कहा कि टिका उत्सव मनाने वाली योगी सरकार उत्तर प्रदेश के किसी टीकाकरण केंद्र में 11 से 35 वैक्सीन डोज उपलब्ध करा पायी सही स्थिति यह है कि अब तक 8 करोड़ के लगभग पहली व डेढ़ करोड़ के लगभग दूसरी डोज देने के दावे भी आंकड़ेबाजी का खुला खेल के अतिरिक्त कुछ नही है। श्री सिंह ने कहा कि कोरोनाकाल मे सरकार की लापरवाही का कुफल है कि लाखों लोग चले गए मौत के मुह चले गए और संवेदनहीनता की पराकाष्ठा यह है शवां के ढेर लगवा देने वाली यह सरकार मिथ्या प्रचार के अतिरिक्त कुछ नही करती इसके शासनकाल में लोगो को इलाज तक उपलब्ध नही करा सकी इसी तरह वैक्सिनेशन के बजाय वह लोगो को गुमराह करने तक सीमित है।