अवनीश अवस्थी की छुट्टी संजय प्रसाद को गृह विभाग का चार्ज

उत्तर प्रदेश में नौकरशाही के लिहाज से यह बड़ी खबर है कि मुख्यमंत्री योगी के करीबी माने जाने वाले अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को सेवा विस्तार नहीं मिला है। अवस्थी आज रिटायर हो गए हैं । खबर है कि उनके पास मौजूद गृह विभाग की अतिरिक्त जिम्मेदारी संजय प्रसाद को दी गई है।संजय प्रसाद 1995 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। वर्तमान में योगी के प्रमुख सचिव हैं। सूचना विभाग की जिम्मेदारी भी संजय प्रसाद के पास है।

अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी आखिरकार आज सेवानिवृत्त हो गए। उन्हें सेवा विस्तार नहीं मिल सका। उत्तर प्रदेश एक्सप्र्रेसवेज इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी (यूपीडा) समेत उनके सभी विभागों का कार्यभार प्रमुख सचिव, मुख्यमंत्री व सूचना संजय प्रसाद को सौंपा गया है।

संजय प्रसाद की पहचान ईमानदार और मेहनती प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर होती हैं। 1995 बैच के आईएएस संजय प्रसाद नई जिम्मेदारी को चुनौती के तौर पर लेते हैं और समय सीमा के अंदर कार्य पूरा करने में विश्वास रखते हैं।संजय प्रसाद के मुख्यमंत्री { yogi } का करीबी माना जाता है। संजय प्रसाद मूल रुप से बिहार के रहने वाले है। संजय प्रसाद की शुरुआती शिक्षा बिहार में हुई। सिविल सर्विसेज की परीक्षा में 1995 बैच में सफलता मिली । उन्हें उत्तर प्रदेश कैंडर मिला ।

अवनीश अवस्थी के पास गृह के अलावा गोपन, वीजा-पासपोर्ट, जेल प्रशासन एवं सुधार, सतर्कता विभाग, धर्मार्थ कार्य विभाग की जिम्मेदारी थी। वह यूपीडा व उत्तर प्रदेश स्टेट हाईवेज अथॉरिटी (उपशा) के सीईओ और डीजी जेल भी थे। ऊर्जा विभाग का अतिरिक्त चार्ज भी उनके पास था। संजय ने देर शाम गृह विभाग का कार्यभार संभाल लिया और अधिकारियों के साथ बैठक भी की। अवस्थी 1984 के बाद सबसे लंबे समय तीन वर्ष एक माह तक गृह विभाग का मुखिया रहने का रिकॉर्ड बना गए। उनका कार्यकाल एक अगस्त, 2019 से 31 अगस्त, 2022 तक रहा।

योगी सरकार जल्द ही स्थायी मुखिया की घोषणा करेगी – प्रदेश के गृह विभाग का अगला मुखिया कौन होगा, इसे लेकर शासन स्तर पर मंथन शुरू हो गया है। जल्द ही नया नाम तय कर स्थायी मुखिया की तैनाती की जाएगी। संजय प्रसाद जिन्हें गृह विभाग का अतिरिक्त चार्ज दिया गया है, उन्हें भी स्थायी किया जा सकता है। क्योंकि 2019 के शुरू में तत्कालीन प्रमुख सचिव अरविंद कुमार लंबी छुट्टी पर गए थे। उस समय सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को अतिरिक्त चार्ज दिया गया था। बाद में अरविंद कुमार को जब गृह विभाग से हटाया गया तो अवस्थी को ही स्थायी अपर मुख्य सचिव बना दिया गया।

अवस्थी के सेवानिवृत्त के बाद उनके सम्मान में पुलिस विभाग की ओर से भी विदाई सम्मान समारोह का अयोजन किया। लखनऊ के सप्रू मार्ग स्थित पुलिस ऑफिसर्स मेस में अवस्थी के सम्मान में कार्यवाहक डीजीपी देवेंद्र सिंह चौहान की ओर से यह आयोजन किया गया। इसमें लखनऊ में नियुक्त एसपी से लेकर एडीजी स्तर तक के अधिकारियों को आमंत्रित किया गया।

अपर मुख्य सचिव, गृह के पद से आज सेवानिवृत्त हुए अवनीश अवस्थी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काफी भरोसेमंद और सबसे पावरफुल ब्यूरोक्रेट रहे हैं।अवनीश अवस्थी को योगी सरकार के पार्ट 2 का कर्ता-धर्ता अर्थात सूत्रधार मन जाता रहा है। एक समय था कि योगी के दो नयन अवनीश अवस्थी को माना जाता रहा है। शायद भाजपा इसी को कहते हैं अति सर्वत्र वर्जते। भाजपा आत्म विश्वास को मानती है अति आत्मविश्वास को दर किनार कर देती है।