आजमगढ़ प्राइमरी स्कूल को अब तक न मिल पाई किताबें

आजमगढ़ प्राइमरी स्कूल खुले काफी दिन हुए लेकिन छात्रों को नहीं मिल पाई अब तक किताबें।

आजमगढ़। आजमगढ़ सरकारी स्कूलों को खुले काफी दिन हो गए और सरकार बेहतर शिक्षा मुहैया कराने का दावा कर रही है लेकिन आजमगढ़ नगरीय क्षेत्र में अभी तक बच्चों को किताबें उपलब्ध नहीं कराई जा सके जिसकी वजह से बच्चों का पठन-पाठन बाधित हो रहा है। यह बच्चे हैं जिला अधिकारी कार्यालय से मात्र 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

विद्यालय के अध्यापक का कहना है कि विद्यालय की अध्यापकों ने बताया कि किताब में अभी तक उपलब्ध नहीं हुई है लेकिन हम पिछले साल के बच्चों की कुछ किताबों को एकत्रित कर इन बच्चों को पढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं और स्कूल में इसके अत्यधिक समस्याएं हैं यही हाल जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय से सटे जफरपुर स्कूल का भी है यह हालत नगरीय क्षेत्र क्षेत्र के विद्यालय का है जो जिला अधिकारी कार्यालय से मात्र 2 किलोमीटर की दूरी और जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय से बिल्कुल सटे हुए विद्यालय का है ऐसे में ग्रामीण इलाकों के विद्यालयों क्या हालात होंगी आप इसका सहज अंदाजा लगा सकते हैं।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने क्या कहा-

वहीं इस मामले में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अतुल कुमार का कहना है कि किताबों के किराए का टेंडर लखनऊ से होता है ऐसे में टेंडर प्रक्रिया में विलंब हुआ लेकिन एक-दो दिन में कुछ किताबें आ जाएंगी जिससे हम उसका वितरण करेंगे कितनी किताबें आएंगे तो उन्होंने कहा की 3000000 किताबों के सापेक्ष डेढ़ लाख किताबों के क्रय की व्यवस्था पूरी कर ली गई है वह जल्द ही आ जाएंगे वहीं उन्होंने यह भी कहा यह प्रदेश अदर से निर्देश आया था कि आप लोग बच्चों से पुरानी किताब लेकर पठन-पाठन कराएं जब तक की किताबें नहीं मिलती है।