बड़ी पार्टी का रथ यूपी में रुकता-मनीष सिसोदिया

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की वर्चुअल ‘केजरीवाल गारंटी सभा’, लाखों लोगों को किया संबोधित।अपने बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए यूपी में वोट करे जनता।जनता से की अपील-जुमले देने वाली पार्टियों को देखा, एक बार काम करके दिखाने वाली आम आदमी पार्टी को भी मौका देकर देखे जनता।जिस तरह से दिल्ली को केवल 05 साल में बदला, वैसे ही यूपी में लाएंगे विकास की बयार।देश की सबसे बड़ी पार्टी का रथ यूपी में रुकता हुआ दिख रहा।ईमानदार राजनीति,स्कूलों में अच्छी शिक्षा, अच्छे हास्पिटल, यूपी को 300 यूनिट तक बिजली फ्री, किसानों को फ्री बिजली, बेरोजगार युवा को 05 हजार बेरोजगारी भत्ता,10 लाख नौकरियों के अवसर, महिलाओं को प्रतिमाह एक हजार रुपये के भत्ते की गारंटी दे रही आम आदमी पार्टी।भाजपा, सपा, बसपा, कांग्रेस विकास करेंगे नहीं, करके दिखाएंगे तो केवल ओर केवल अरिवंद केजीवाल ही।हमने दिल्ली में करके दिखाया सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूलों से अच्छे हो सकते हैं, सरकारी अस्पताल प्राइवेट स्कूलों से अच्छे हो सकते हैं।अरंविद केजीरीवाल एक गारंटी हैं और आम आदमी पार्टी का काम एक गारंटी है।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को वर्चुअल ‘केजरीवाल गारंटी सभा’ में यूपी की जनता से आने वाले विधानसभा चुनावों में अपने बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए वोट करने की अपील की। उन्होंने कहा कि जुमले देने वाली भाजपा, सपा, बसपा, कांग्रेस को मौका देने वाली यूपी की जनता एक बार काम करके दिखाने वाली आम आदमी पार्टी को भी मौका देकर देखे। उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता ने पांच साल पहले आम आदमी पार्टी को मौका दिया था और पार्टी ने वहां स्कूलों में अच्छी शिक्षा, सस्ती बिजली, अच्छे अस्पताल देकर दिखाए।

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी का तो जीना मरना इसी बात पर है कि बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं दिलवाई, शानदार शिक्षा न मिली तो राजनीति किस बात की। सरकारें किस बात की। यह बात आज उत्तर प्रदेश के लोगों को समझ में आ रही है। अभी तक सपा, बसपा, कांग्रेस, भाजपा इन सबमें राजनीति होती रही है। आज पहली बार उत्तर प्रदेश की जनता के पास विकल्प है। पहली बार उत्तर प्रदेश के वोटर के पास विकल्प है। उसके पास विकल्प है एक ऐसी पार्टी का जिसने 05 साल में करके दिखा दिया कि सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूलों से अच्छे हो सकते हैं। सरकारी अस्पताल प्राइवेट स्कूलों से अच्छे हो सकते हैं। और केवल स्कूल अस्पताल नहीं ईमानदारी की राजनीति की बदौलत दिल्ली में आज 80 प्रतिशत लोगों के घरों में बिजली के बिल जीरो आ रहे हैं। जबकि दिल्ली में तो कोई पावर हाउस नहीं है। बिजली बनती नहीं है दिल्ली में। उतर प्रदेश से लेनी पड़ती है, उत्तरखंड से, हिमाचल से लेनी पड़ती है लेकिन दिल्ली में बिजली के बिल जीरो क्यों आ रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के लोग जानते हैं कि बिजली कैसे महंगी होती है। हर साल कैसे दाम बढ़ते हें। केजरीवाल जी ने कहा कि 300 यूनिट बिजली फ्री करेंगे तो आ गये सपा भाजपा सब उनका मजाक बनाने के लिए। ये भाजपा, सपा, बसपा, कांग्रेस करेंगे नहीं, करके दिखाएंगे तो केवल ओर केवल अरिवंद केजीवाल जी ही। क्योंकि उनके लिए ये जुमले हैं लेकिन अरविंद केजरीवाल जी के लिए ये गारंटी है। अरंविद केजीरीवाल एक गारंटी है और आज आम आदमी पार्टी का काम एक गारंटी है, दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि धर्म-जाति की बात सब कर रहे स्कूल का क्या होगा कोई इसपर बात नहीं कर रहा है। स्कूल, अस्पताल, महिलाओं की सामाजिक सुरक्षा और युवाओं को रोजगार के नाम पर, सस्ती बिजली के नाम पर उत्तर प्रदेश के सुनहरे भविष्य के नाम पर आम आदमी पार्टी को वोट दीजिये। उन्होंने जनता से अपील की कि आपने सबको मौका देकर देखा एक बार आम आदमी पार्टी को भी मौका देकर देखे।

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी का रथ रुकता दिख रहा है-मनीष सिसोदिया

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने देश के चुनाव और वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी की स्थिति पर तंज कसते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा राज्य है। राजनीति दृष्टि से सबसे महत्वपूर्ण राज्य है लेकिन इस राज्य में देश की सबसे बड़ी पार्टी जो पिछले 05 साल से सत्ता में है। देश में सत्ता में है और कई राज्यों में सत्ता में है। आज उसका रथ उत्तर प्रदेश में रुकता दिख रहा है। आज उस भारतीय जनता पार्टी के साथी पार्टी को छोड़-छोड़ कर भाग रहे हैं। इसका मतलब उन लोगों को भी भाजपा का रथ डूबता हुआ दिखाई दे रहा है। लेकिन ये लोग जहां छोड़कर जा रहे हैं वहां के बारे भी आपको सोचना पड़ेगा। क्योंकि आज जब चुनाव हो रहा है तो एक वोटर के रूप में हमको और आपको सबको यह सोचना पड़ेगा कि आम आदमी को क्या मिलने वाला है। आप लोग जो वोट देंगे उनको क्या मिलने वाला है। क्या ये पार्टी जिसको लोग छोड़कर भाग रहे हैं या जिसमें जा रहे हैं आपके बच्चों को स्कूल दे पाएगी। क्यों कि 05 साल तक ये सत्ता में थी और उसके पहले वो सत्ता में थी। उन्होंने स्कूलों के लिए क्या किया और इन्होंने स्कूलों के लिए क्या किया। सरकारी स्कूल किसके राज्य में सबसे ज्यादा बदहाल हुए यह कम्पटीशन तो हो सकता है लेकिन सरकारी स्कूल किसने ठीक कराए इसका कम्पटीशन नहीं हो सकता है। इस काम को केवल और केवल एक पार्टी कर सकती है। तो जब 10 तारीख को 14 तारीख को उसके बाद चुनाव हो और आप वोट डालने जाएं तो सबसे पहले इस बात का ध्यान रखें कि यह वोट आप अपने बच्चे के स्कूल के लिए डाल रहे हैं। ये जो वोट डाल रहे हैं आप ये अपने बच्चे की अच्छी शिक्षा के लिए डाल रहे हैं। उत्तर प्रदेश के बच्चों की शिक्षा के लिए डाल रहे हैं। आप देंखेगे कि न भाजपा उसमें खरी उतरती है न ही सपा खरी उतरती है न कांग्रेस उसमें खरी उतरती है। आम आदमी पार्टी ही उसमें खरी उतरेगी क्यों कि केजीरीवाल जी को 05 साल पहले दिल्ली के लोगों ने मौका दिया और उनकी सरकार ने कर दिखाया।