क्या देश में भाजपा सरकार और ईडी का गठबंधन-संजय सिंह

  • भाजपा सरकार और ईडी के गठबंधन के दबाव में जनता की आवाज दबने वाली नही।देश के लिए शहादतें देने वाले गांधी परिवार को डराने की नाकाम कोशिश बंद करे भाजपा।
  • संजय सिंह

लखनऊ । जनता के सवालों पर जवाब देने में नाकाम भाजपा सरकार षड़यंत्र कर ईडी के सहारे विपक्ष की आवाज दबाने की कोशिश में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष सोनिया गांधी से पूछताछ कर परेशान किये जाने के खिलाफ आज प्रदेश की राजधानी लखनऊ में  कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं द्वारा लखनऊ स्थित ई डी दफ्तर के बाहर विरोध प्रर्दशन किया गया। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस जनों की पुलिस से झड़प भी हुई जिसके पश्चात कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर ईको गार्डेन ले जाया गया।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि  जिस नेशनल हेराल्ड मामले में एक- एक पैसे  का लेन देन पारदर्शी तरीके से है वहां सिर्फ परेशान करने के नाम पर ‘‘ inforcement directorate ’’ (ईडी) को मनी लांड्रिंग दिख रहा है, इसके उलट जिस पीएम केयर्स फण्ड में हजारों करोड़ का घोटाला हुआ जिसका ऑडिट तक नहीं हुआ, जिसे सरकार ने सरकारी फण्ड मानने से इनकार कर दिया, जिसमे अरबों की लेन-देन हुई है, वहां ईडी को सब कुछ साफ सुथरा दिख रहा है।

प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि जिस तरह महंगाई अपने चरमोत्कर्ष पर है, उससे आम जनमानस की कमर टूट चुकी है, बेरोजगार युवक रोजगार की तलाश में दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं, किसान अपनी समस्याओं से लड़ते हुए दम तोड़ दे रहें हैं कांग्रेस उन सवालों को लगातार उठा रही है इन्हीं सवालों पर सरकार कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है और जनता की आवाज संसद में न उठे और जनता का ध्यान इन सब मुद्दों पर न जाए इसलिए संवैधानिक संस्थाओं का दुरूपयोग करके विपक्षी नेताओं को प्रताड़ित किया जा रहा है

उन्होंने कहा कि इस अत्याचार के खिलाफ कांग्रेस चुप बैठने वाली नहीं है हम जनता की आवाज उनके हित के मुद्दों को उठाते रहेंगे सरकार चाहे जितना प्रयास कर ले ये आवाज बंद होने वाली नहीं है, श्रीमती सोनिया गांधी और राहुल गांधी उस गांधी परिवार की परंपरा के वाहक हैं जो देश के लिए शहादत देने से पीछे नहीं हटा ये ई. डी. की क्या बिसात है। इसी क्रम में आज लखनऊ स्थित प्रदेश प्रवर्तन निदेशालय (ईडी )कार्यालय के बाहर एवं प्रदेश के तमाम जनपदों में कांग्रेसजनों ने  विरोध प्रदर्शन किया प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसजनों   पर पुलिस के द्वारा लाठीचार्ज में पार्टी की महिला नेत्री सुमन प्रजापति एवं तमाम कांग्रेसजनों को गंभीर चोटें आई। जिसके पश्चात कांग्रेस नेताओं – कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर ईको गार्डेन ले जाया गया।

प्रदर्शन में राष्ट्रीय सचिव सत्य नारायण पटेल, विधायक वीरेन्द्र चौधरी, वरिष्ठ नेता वीरेन्द्र मदान, द्विजेन्द्र त्रिपाठी, प्रमोद सिंह, अमरनाथ अग्रवाल, सम्पूर्णानंद मिश्रा, अनुसुईया शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष विश्वविजय सिंह, प्रदेश महासचिव विवेकानंद पाठक, सेवादल प्रदेश संगठक प्रमोद पांडेय, राजेश सिंह काली, शिव पाण्डेय सचिव मनोज तिवारी, अनिल यादव, बृजेश सिंह, प्रदीप कनौजिया, अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग विभाग कांग्रेस मनोज यादव, प्रवक्ता कृष्णकांत पाण्डेय, पंकज तिवारी, संजय सिंह, रफत फातिमा, युवा कांग्रेस के अध्यक्ष कनिष्क पाण्डेय, सतीश  बिंध  लक्ष्मीनारायण दीक्षित , संजीव  सिंह,  आलेख  पांडे,  सोनू  पंडित,  जितेन्द्र  मोहन  गुप्ता ,पूर्व मंत्री नकुल दुबे, महिला कांग्रेस की अध्यक्ष ममता चौधरी, नरेन्द्र शुक्ला, राकेश पाण्डेय, सुशीला शर्मा, विभा त्रिपाठी, किरन शर्मा, जिलाध्यक्ष वेद प्रकाश त्रिपाठी, शहर अध्यक्ष दिलप्रीत सिंह डीपी एवं अजय श्रीवास्तव अज्जू, जनपद वहराइच के पूर्व एवं रायबरेली जिलाध्यक्ष बृजेन्द्र सिंह, युवा कांग्रेस के नेता शिवम त्रिपाठी, पंकज तिवारी, अंकित तिवारी, संजीव सिंह सहित तमाम कांग्रेस जन मौजूद रहे।